सुलतानपुर। कहते हैं अगर प्‍यार सच्चा है तो कुछ भी नामुमकिन नहीं है। सुलतानपुर में एक ऐसा ही अनोखा मामला सामने आया है। सामूहिक शादी में दूसरे के साथ विवाह होने के बाद विवाहिता अपनी ससुराल ना जाकर प्रेमी के घर पहुंच गई। मामला इस कदर बढ़ा कि पति, पिता और पंचायत के समझाने के बाद भी दुल्‍हन ने वापस जाने से इन्‍कार कर दिया। गांव में इस मामले की चर्चा हो रही है।

यह है मामला
दूबेपुर गांव निवासी एक युवती का विवाह 15 जनवरी को ब्लॉक परिसर में आयोजित मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह में अमेठी जिला के कटरा कसारा निवासी युवक के साथ हुआ। सामूहिक विवाह के बाद विवाहिता ने ससुराल जाने से इन्‍कार कर दिया। ससुराल जाने के इन्कार करने से परिवारजनों ने उसकी विदाई नहीं की। इसी बीच बीते 18 फरवरी को विवाहिता घर से निकली और दोमुहां चौराहा पहुंच गई। वहां से उसने अपने प्रेमी के घर का पता पूछ पूछते हुए उसके घर जा पहुंची।
पंचायत में भी नहीं हुआ फैसला
विवाहिता को देखकर प्रेमी के परिवारजन ने इसकी जानकारी दुल्हन की मां व अन्य लोगों को दे दी। शुक्रवार को उसकी मां व अन्य लोग गांव पहुंचे। पूरे मामले पर पंचायत हुई, लेकिन दुल्हन ने पति और पिता दोनों के घर जाने से इन्कार कर दिया। जिसके बाद दुल्हन के परिवारजन ने तहरीर थाने में दे दी। कोतवाल देवेंद्र सिंह ने बताया कि युवती बालिग है। फिलहाल मामले की जांच-पड़ताल की जा रही है।
प्रेमी के घरवाले तैयार
सूचना के मुताबिक प्रेमी व उसके घरवाले युवती को अपनाने के लिए तैयार हैं। वहीं दुल्‍हन के परिवारीजन शादी के लिए तैयार नहीं है। शादी के बाद युवती द्वारा की गई हिमाकत उन्‍हें गंवारा नहीं। वहीं सूत्रों के मुताबिक युवती के प्रेम प्रसंग की भनक लगते ही उसकी शादी आनन फानन तय कर दी गई थी। जिसके बाद युवती ने ये कदम उठाया।