अपहरण के बाद व्यवसायी के पुत्र की हत्या, तीन आरोपित गिरफ्तार

0
249

जबलपुर। खनन कारोबार से जुड़े व्यवयायी मुकेश लांबा के 13 वर्षीय पुत्र आदित्य लांबा की अपहर्ताओं ने हत्या कर दी। रविवार सुबह पनागर क्षेत्र के बिछुआ गांव से गुजरी नहर में बालक का शव मिला। मामले में पुलिस ने तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया है। यह सभी पूर्व परिचित बताए जा रहे हैं। मामले में चौंकाने वाली बात यह है कि पुलिस की जानकारी में पूरा घटनाक्रम होने के बाद भी आरोपितों ने परिजन के जरिए तकरीबन 8 लाख रुपये 16 अक्टूबर को फिरौती के रूप में वसूल भी लिए थे। इसकेे बावजूद पुलिस अपहर्ताओं तक नहीं पहुंच सकी। अपहर्ताओं ने परिजनों से 2 करोड़ रुपये की फिरौती मांगी थी। इधर, बालक के शव की जानकारी मिलने पर धनवंतरि नगर के व्यापारी सड़कों पर उतर आए। दुकानें बंद कर पुलिस की लापरवाही पर आक्रोश जताया।

पुलिस ने आरोपितों का निकाला जुलूस

पुलिस ने अपहरण के तीनों आरोपितों का रविवार शाम चार बजे अधारताल चौराहे से जुूलूस निकाला। आरोपितों करण जग्गी, मोनू विश्वकर्मा ने पत्रकारों को बताया कि उन्होंने पैसे के लिए आदित्य का अपहरण किया था। 8 लाख रुपये मिलने के बाद शुक्रवार शाम बालक की नहर में फेंककर हत्या कर दी। इधर, पुलिस ने मामले का अब तक खुलासा नहीं किया है। शाम तक पुलिस पत्रकारों को पूरी जानकारी दे सकती है।