The duniyadari@। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में एक दुर्गा पूजा समिति के पंडाल की थीम प्रवासी मजदूर पर है. इसके जरिए कोरोना महामारी की रोकथाम को लेकर लागू लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों के दर्द को दिखाने की कोशिश की गयी है. यहां पूजा समिति ने बॉलावुड अभिनेता सोनू सूद की मूर्ति लगाई है, जो आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।

कोलकाता की दुर्गा पूजा यूं तो हमेशा चर्चा में रहती है. इस बार भी अपनी थीम को लेकर एक पूजा पंडाल सुर्खियों में है. कोलकाता के केस्टोपुर प्रफुल्ल कानन दुर्गा पूजा कमेटी के पूजा पंडाल में कोरोना महामारी की रोकथाम को लेकर लागू लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों की पीड़ा दूर करने में अहम भूमिका निभानेवाले मजदूरों के मसीहा बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद की मूर्ति लगायी गयी है.
लॉकडाउन के दौरान आम लोगों ने कई तरह की परेशानियां झेलीं. इन प्रवासी मजदूरों के लिए बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद मसीहा साबित हुए हैं. पूजा समिति ने पूजा पंडाल में इनकी मूर्ति लगाकर लोगों को सामाजिक संदेश दिया है, ताकि लोग इससे प्रेरणा ले सकें. आपको बता दें कि सोनू सूद ने लॉकडाउन के दौरान अपने स्तर पर प्रवासी मजदूरों की मदद की थी. देश में जब यातायात के सभी साधन बंद हो गये थे, तो सोनू सूद ने अपने गांव लौटने में प्रवासी मजदूरों की मदद की थी.
लॉकडाउन के दौरान सोनू सूद मसीहा के अवतार में नजर आए. प्रवासी मजदूरों की एक आवाज पर वे मदद करते दिखे. झारखंड, बिहार समेत देश के कई राज्यों के प्रवासियों को उनके घर तक पहुंचाने में उन्होंने कोई कोर कसर नहीं छोड़ी. रियल लाइफ में वे प्रवासी मजदूरों के लिए संकटमोचक बने. कोलकाता के दुर्गा पूजा पंडाल ने आम लोगों को जरूरतमदों की मदद के लिए प्रेरित करने को लेकर अपने पूजा पंडाल में इनकी मूर्ति लगायी है.