कोरबा। उधार की रकम वसूली के लिए महिला की हत्या करने के आरोप में पुलिस ने पड़ोसी को गिरफ्तार किया है। महाराणा प्रताप नगर स्थित मकान नंबर ईडब्लूएस -322 में रहने वाली वृद्ध महिला श्रीमति सुमित्रा बाई मंहत की अज्ञात आरोपी के द्वारा सिर व चेहरे पर संघातिक हमला कर हत्या कर दिया गया था। मामले को पुलिस ने दिन-रात एक कर सुलझा लिया है।

एएसपी कीर्तन राठौर ने प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि घटना की रिपोर्ट पर रामपुर चौकी में प्रार्थी बुधवार दास महंत के द्वारा दर्ज कराने उपरांत मामले की गंभीरता व संवेदनशीलता को देखते हुये पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा के द्वारा मार्गदर्शन देकर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कीर्तन राठौर के पर्यवेक्षण में नगर पुलिस अधीक्षक राहुल देव शर्मा के नेतृत्व में टीम गठित कर जल्द से जल्द आरोपी को पकड़ने व मामले का खुलासा करने के निर्देश दिये गये थे। हत्या की इस घटना के घटना स्थल को देखकर ही प्रथम दृष्टया यह स्पष्ट था कि घटना को कोई जान पहचान का व्यक्ति या कोई करीब का व्यक्ति ही घटना को अंजाम दिया होगा । पुलिस टीम ने विवेचना के दौरान फारेसिक टीग तथा डॉग स्क्वायड की मदद लेते हुये साक्ष्यों का संकलन करना शुरू किया । विवेचना के दौरान आस पास में अपेक्षित उपयोग के सीसीटीव्ही कैमरे नहीं मिलने से प्रारंभिक तौर पर जांच में परेशानियों का सामना पुलिस टीम को करना पड़ा । टीम के द्वारा सायबर सेल के सहयोग से तथा मुखबीर तंत्र की मदद से मृतिका श्रीमति सुमित्रा बाई मंहत के पड़ोसी बालन मद्रासी , जो घटना की रात से ही फरार हो गया था , की प्रत्येक गतिविधियों पर गोपनीय रूप से नजर रखी गयी । शिशु पालन जी उर्फ पालन के विरूद्ध पर्याप्त साक्ष्य मिलने के उपरांत हिरासत में लेकर हिकमत अमली से पुछताछ किये जाने पर आरोपी ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया। उसने बताया कि सुमित्रा बाई से इसने 8 हजार रूपये बतौर उधारी लिये थे जिसे वापस करने के लिये सुमित्रा बाई बार – बार बोल रही थी और बहुत गंदी – गंदी गालियां भी देती थी । सुमित्रा बाई की आदत ऐसी थी कि कोई भी आरोपी के घर आता जाता था व घर में साथ में खाना पीना करते थे तो वह हमेशा भददी भद्दी गालियां बकती थी । कहती थी कि यहां पड़ोस में राना है तो शराब पीना नहीं चलेगा । दिनांक घटना को भी आरोपी शिशु पालन जी उर्फ बालन अपने घर में शराब पी रहा था तब भी मृतिका गाली – गुफ्तार बक रही थी तथा मेरा पैसा वापस कर बोल रही थी । इसी बात से नाराज होकर आरोपी शिशु पालन जी उर्फ बालन मौका देखकर देर रात सुमित्रा बाई के घर में घुसकर लोदा , प्रेशर कुकर के बक्कान व इंजे से हमला कर सुमित्रा बाई की हत्या कर दिया । हत्या के बाद मृतका के गले में पहने सोने की माला को भी निकाल लिया था । आरोपी शिशु पालन उर्फ बालन के निशानदेही पर पटना में प्रयुक्त आलाजरब तथा सोने की माला व घटना के समय पहने कपड़े ( जिसमें खून के दाग लगे हुये है ) को आरोपी के कब्जे से बरामद कर लिया गया है । आरोपी को धारा 302 , 307 भादवि को तहत गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय प्रस्तुत किया जा रहा है ।