सक्ती । राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत कार्यरत कर्मचारियों ने नियमितीकण की मांग को लेकर हड़ताल पर थे। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री के आश्वाशन के बाद वापस काम पर लौट गए है।

स्वास्थ्य केन्द्र सक्ती राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के समस्त अधिकारी कर्मचारी 19 सितम्बर से नियमितीकरण की मांग को अनिश्चित कालीन हड़ताल पर चले गए थे । चुनाव की पूर्व कांगेस की सरकार आने पर अनियमित संविदा कर्मचारियों को 10 दिनों के भीतर नियमित करने की घोषणा की गई थी, जिसे याद करते हुए नियमितीकरण की मांग कर रहे थे। यांहा यह बता दे कि लगभग 20 माह गुजरने के बाद भी किसी भी प्रकार की कोई पहल नही होने के कारण संविदा कर्मचारियों में नाराजगी बढ़ती गई, और प्रदेश के लगभग 13000 कर्मचारी संविदा कर्मचारी हड़ताल पर चले गए जिससे प्रदेश की स्वास्थ्य ब्यवस्था चरमरा गई।अंततः स्वास्थ्य मंत्री महोदय के आश्वासन उपरांत एवं आपात स्थिति को देखते हुए निर्णय लिया गया कि हम अपना हड़ताल 1 माह के लिए स्थगित करते हैं ।इस बीच अगर हमारी मांगो पर कार्यवाही नहीं होती है तो 1 नवंबर से पुनः हड़ताल के लिए हम सब बाध्य रहेंगे।