कोयलांचल में लूट की घटना : तेजी से घूमने लगी पुलिस के शक की सुई ………..

0
227

कोरबा। लूट की घटना के बाद पुलिस की शक की सुई अब तेजी से घूमने लगी है। प्रथम दृष्ट्या में चोरो ने सीधे कैश रूम में दस्तक दी है इससे यह मन जा रहा है की चोरी करने वाले को इस बात की जानकारी थी कि कैश कान्हा रखा है। दूसरा सवाल अब पुलिस के लिए यह कड़ी हो रही है कि आखिर वो कौन लोग है जिनका इस तरह से कैश रखे जाने वाले सवेदनशील कक्ष की पूरी जानकारी रखते है । इस कड़ी के आधार पर पुलिस ने आगे की छानबीन शुरू कर दी है।
कोल ट्रांसपोर्ट से जुड़ी कंपनी के गेवरा खदान में स्थित सैनिक माइनिंग कैंप के 12 कमरों में लुटेरे सीधे उस कमरे में ही घुसे जहां कैश रखा हुआ था। माना जा रहा है कि लुटेरे जानकार थे और रेकी करने के बाद घटना को अंजाम दिए। दो सुरक्षा गार्ड के साथ मारपीट किए जाने की वजह से उन्हें मामूली चोट आई है। प्राथमिक तौर पर यह पता चला है कि 31 लाख रुपए लुटेरे ले गए हैं । घटना रात करीब 2 बजे की बताई जा रही । कैंप में उस वक्त दो सुरक्षाकर्मी तैनात थे। लुटेरों ने पहले दोनों के साथ मारपीट की और एक कमरे में बंद कर दिए और दफ्तर में रखें नगदी समेटकर फरार हो गए। आरोपित कहां से कैंप के अंदर प्रवेश किए अभी इसका भी पता नहीं चल सका है। इस बिंदु पर भी पुलिस जांच कर रही है । निजी कंपनी के कार्यालय में सीसीटीवी नहीं लगा था । मामले की जांच पड़ताल की जा रही। आधी रात को जिस ढंग से घटना को अंजाम दिया गया उससे जिले में सनसनी फैल गई है।
तनख्वाह बांटने के लिए रखे गए थे पैसे
मामले की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह मीणा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कीर्तन राठौर सहित जिले के तमाम पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और मामले की तहकीकात शुरू कर दी है ।कर्मचारियो को वेतन का भुगतान करने के लिए पैसे रखे गए थे । इस लूट की वारदात के बाद जिले में सनसनी फैल गई है । पुलिस के अधिकारियों की टीम मामले की तहकीकात में जुटी हुई है ।
वर्सन
गेवरा खदान में स्थित सैनिक माइनिंग कैंप में लूट की घटना को चोरो ने गार्ड को बंधक बनाकर अंजाम दिया है। कितने की चोरी हुई है यह अभी स्पष्ट नहीं हुई है। गार्ड से मिली जानकारी के अनुसार चोर तीन चार की संख्या में थे। मामले की जानकारी ली जा रही है जल्द ही लूट की वारदात को सुलझा लिया जायेगा।
अभिषेक मीणा
एसपी ,कोरबा