नई दिल्ली। भारत में गुरुवार को पिछले 24 घंटों में 9 हजार 119 नए मामले सामने आए। जो 539 दिन में ये अब तक के सबसे कम के आंकड़े सामने हैं। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के आंकड़ों से यह जानकारी मिली। इसके अलावा, इस दौरान 396 मौतें दर्ज की गईं, जिससे इस महामारी से मरने वालों का कुल आंकड़ा बढ़कर 4,66,980 तक पहुंच गया।

इसी अवधि के दौरान 10,264 रोगियों के ठीक होने से कुल संख्या बढ़कर 3,39,67,962 हो गई है। नतीजतन, रिकवरी दर 98.33 प्रतिशत है, जो मार्च 2020 के बाद से सबसे अधिक है।वर्तमान में, सक्रिय मामले 1,09,940 है, जो देश के कुल पॉजिटिव मामलों का 0.32 प्रतिशत है, जो मार्च 2020 के बाद सबसे कम है।

इसी अवधि में कुल 11,50,538 टेस्ट किए गए। भारत ने अब तक 63.59 करोड़ से अधिक परीक्षण किए हैं। इस बीच, पिछले 62 दिनों से 0.90 प्रतिशत पर साप्ताहिक पॉजिटिव दर 2 प्रतिशत से कम बनी हुई है।

23वें स्थान पर भारत की एक्टिव केस
कोरोना एक्टिव केस मामले में दुनिया में भारत अब 23वें स्थान पर है। कुल संक्रमितों की संख्या के मामले में भारत दूसरे स्थान पर है, जबकि अमेरिका, ब्राजील के बाद सबसे ज्यादा मौत भारत में हुई है।

टीकाकरण 119 करोड़ पार
पिछले 24 घंटों में 90,27,638 वैक्सीन खुराक के साथ, गुरुवार सुबह तक भारत का कोविड टीकाकरण कवरेज 119.38 करोड़ तक पहुंच गया है। यह सत्र में 1,23,73,056 के माध्यम से हासिल किया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, 22.72 करोड़ से अधिक शेष और अप्रयुक्त कोविड-19 वैक्सीन खुराक अभी भी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के पास उपलब्ध हैं। 77.18 करोड़ लोगों को पहली डोज दी गई हैं और इनमें से 41.10 करो़ड़ लोगों को दोनों डोज लगाई दी गई हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने लिखा पत्र
कई देशों में कोरोना के मामलों में वृद्धि का हवाला देते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल, केरल, महाराष्ट्र, पंजाब सहित 13 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखकर साप्ताहिक जांच दर में कमी आने तथा कुछ जिलों में संक्रमण दर में आ रही वृद्धि पर चिंता व्यक्त जताई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों से सावधानी बरतने के लिए भी कहा है। दरअसल सबसे अधिक मामले केरल और महाराष्ट्र से आ रहे हैं।