कोविड के बढ़ते मरीजों के बीच प्रशासन की तैयारियां जोरो पर

0
127

0 कलेक्टर की उपस्थिति में प्रशासनिक अधिकारियो का  हुआ प्रशिक्षण
कोरबा .कोविड-19 संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल के नेतृत्व में संक्रमण के नियंत्रण के लिए जिला प्रशासन की तैयारियां जोरो पर है। टेस्ट, आईसोलेट एवं ट्रीट के फाॅमूर्ले पर आगे कोविड की रोकथाम के लिए जिले मे अलग-अलग प्रशासनिक अधिकारियों एवं कर्मचारियों को जिम्मेदारी सौंपी जा चुकी है। मरीजो की कोरोना जांच से लेकर उनके ईलाज तक तथा संपूर्ण हिस्ट्री खंगालने के कामों के लिए अलग-अलग दल बनाये गये हैं। कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल की मौजूदगी मे आज वीडियो कांफे्रंसिंग के माध्यम से इन दलों का महत्वपूर्ण प्रशिक्षण हुआ। प्रशिक्षण में अधिकारियों-कर्मचारियों को आने वाले दिनों में कोविड की रोकथाम के लिए तय रणनीति तथा कार्ययोजना की जानकारी दी गई। इस प्रशिक्षण मेे जिला पंचायत के सीईओ श्री कुंदन कुमार, एडीएम श्री संजय अग्रवाल, सीएमएचओ डाॅ. बी.बी. बोडे, सहित सभी अनुविभागीय अधिकारी एवं राजस्व, स्वास्थ्य तथा जनपद पंचायतों के मैदानी कर्मचारी भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल हुए।
प्रशिक्षण में कोरोना संक्रमितो की काॅन्टेक्ट ट्रेसिंग पर विशेष जोर देते हुए प्राइमरी तथा सेकेण्डरी सम्पर्क मे आये हुये लोगो की पहचान करने के तरीके भी बताये गये। प्रशिक्षण मे सम्पर्क मे आये हुये लोगो की पहचान कर समय सीमा मे जल्द से जल्द कोरोना टेस्ट कराने संबंधी जानकारियां भी दी गयी। प्रशिक्षण मे आने वाले दिनो मे कोविड संक्रमित ए-सिम्प्टोमेटिक मरीजो को होम आईसोलेशन की सुविधा देकर ईलाज कराने मे प्रशासनिक दायित्वों की जानकारी विस्तार से दी गई। प्रशिक्षण मे होम आईसोलेशन के प्राप्त निवेदनों पर कार्रवाई जिला स्तरीय समिति द्वारा विचार किए जाने वाले प्रकरणों का निराकरण करने की जानकारी दी गयी। अधिकारी-कर्मचारियों को मरीज के घरों मे जाकर अलग हवादार कमरा, पृथक शौचालय एवं अन्य पारिवारिक सदस्यों की स्वास्थ्य स्थिति का निरीक्षण करने के महत्वपूर्ण टिप्स भी दिये गये। कोविड अस्पतालों व कोविड केयर सेंटरो में मरीजों के इलाज की व्यवस्था के साथ-साथ उनके भोजन, पानी, साफ-सफाई की माॅनिटरिंग के भी गुर सिखाये गये।
इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में काॅल सेंटर में फोन से प्राप्त जानकारी, जानकारी का संधारण तथा उसे आगे कार्रवाई के लिए जिम्मेदार अधिकारियों भेजने का विधिवत् तरीका भी बताया गया। इस दौरान संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए लोगो की पहचान के लिए उपयोग किये जाने वाले तरीके भी बताये गये। होम आईसोलेटेड मरीजों के घरो से निकलने वाले अवशिष्टो को इकट्ठा करने तथा उसके समुचित निपटान के तरीके भी सिखाये गये। प्रशिक्षण मे कोविड-19 के संक्रमण से होने वाली मौतो के शवो के कोविड प्रोटोकाॅल अनुसार अंतिम संस्कार के बारे मे भी विस्तार से जानकारी दी गयी है।