The duniyadari news।एक नई स्टडी में दावा किया गया है कि कोविड-19 का इलाज गांजे के पौधों से मिले तत्वों से किया जा सकता है। इसकी मदद से कोविड से होने वाले मौत के खतरे को कम किया जा सकता है।

कोरोना वायरस इन्फेक्शन से बचने और कोविड-19 का इलाज करने के तरीके ढूंढने में दुनियाभर के वैज्ञानिक जुटे हुए हैं। इसी बीच यह संभावना भी जताई गई है कि गांजे के पौधे का इस्तेमाल इससे मरने की आशंका को कम कर सकता है। किसी मरीज के शरीर का इम्यून सिस्टम जब कमजोर होने लगता है तो वह उसे ही मारने लगता है। ऐसे में गांजा काम आ सकता है। इस रिसर्च के आधार पर कोरोना वायरस संक्रमण से गंभीरता से पीड़ित मरीजों के ऊपर गांजे से मिले तत्वों को टेस्ट भी किया जा सकता है।
गांजे से होगा कोरोना का इलाज?
इम्यून सिस्टम में खराबी की वजह से ‘साइटोकाइन स्टॉर्म’ नाम की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। इसमें वायरस के साथ-साथ शरीर के स्वस्थ्य सेल्स भी शिकार बन जाते हैं। कोविड के कई गंभीर मामलों में यही मौत की वजह भी बनता है। लेथब्रिज यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने दावा किया है कि गांजे (Cannabis sativa) के पेड़ से मिले तत्व साइटोकाइन स्टॉर्म को रोक सकते हैं। उन्हें ऐसे स्ट्रेन मिले हैं जो इसे पैदा करने में मदद करने वाले दो केमिकल्स interleukin-6 (IL-6) और tumour necrosis factor alpha (TNF-a) की मात्रा को कम कर सकते हैं।