गांव के लिए शुरू हुई पोस्ट ऑफिस की 5 स्टार योजना, आपको मिलेंगे ये सारे फायदे

0
63

सभी योजनाओं को शामिल करने के लिए आवश्यक प्रशिक्षण और बुनियादी ढांचा पहचाने गए गांवों में सभी शाखा कार्यालयों को प्रदान किया जाएगा।
नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। डाक विभाग ने देश के ग्रामीण क्षेत्रों में प्रमुख डाक योजनाओं का सार्वभौमिक कवरेज सुनिश्चित करने के लिए फाइव स्टार गांव के नाम से एक योजना शुरू की है। इस योजना से विशेष रूप से सुदूरवर्ती गांवों में जन जागरूकता और डाक उत्पादों और सेवाओं तक पहुंचने में मदद मिलेगी। फाइव स्टार गांवों की योजना के तहत सभी डाक उत्पादों और सेवाओं को ग्रामीण स्तर पर उपलब्ध और मार्केटिंग और प्रचारित किया जाएगा। शाखा कार्यालय ग्रामीणों की सभी संबंधित जरूरतों को पूरा करने के लिए वन-स्टॉप शॉप के रूप में कार्य करेंगे।
फाइव स्टार योजना के अंतर्गत आने वाली स्कीम
बचत बैंक खाते, आवर्ती जमा खाते, एनएससी/केवीपीप्रमाण पत्र, सुकन्या समृद्धि खाते/पीपीएफखाते, वित्त पोषित डाकघर बचत खाता, भारतीय डाक पेमेंट बैंक खाते, पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी/ग्रामीण डाक जीवन बीमा पॉलिसी, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना खाता और प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना खाता।
यदि कोई गांव उपरोक्त सूची में से चार योजनाओं के लिए कवरेज प्राप्त करता है, तो उस गांव को फोर-स्‍टार दर्जा मिल जाएगा, यदि कोई गांव तीन योजनाओं को पूरा करता है, तो उस गांव को थ्री-स्‍टार दर्जा दिया जाएगा।
योजना का शुभारंभ करते हुए, केंद्रीय संचार राज्य मंत्री, संजय धोत्रे ने कहा कि यह योजना महाराष्ट्र में प्रारंभिक आधार पर शुरू की जा रही है, यहां के अनुभव के आधार पर इसे देश भर में लागू किया जाएगा।
इस योजना को पांच ग्रामीण डाक सेवकों की टीम द्वारा चालू किया जाएगा जिन्हें डाक विभाग के सभी उत्पादों, बचत और बीमा योजनाओं के विपणन के लिए एक गांव सौंपा जाएगा। इस टीम का नेतृत्व संबंधित शाखा कार्यालय के शाखा पोस्ट मास्टर करेंगे। डाक निरीक्षक दैनिक आधार पर टीम की प्रगति पर व्यक्तिगत निगरानी रखेंगे। टीमों का नेतृत्व और निगरानी संबंधित प्रभागीय प्रमुख, सहायक अधीक्षक डाक और निरीक्षक पदों द्वारा की जाएगी।
ग्रामीण डाक सेवकों की टीम सभी पात्र ग्रामीणों को कवर करते हुए सभी योजनाओं के बारे में घर-घर जाकर जागरूकता अभियान चलाएगी। शाखा कार्यालय के नोटिस बोर्ड पर सूचना प्रदर्शित करके व्यापक प्रचार किया जाएगा। पंचायत कार्यालयों, स्कूलों, ग्राम औषधालयों, बस डिपो, बाजारों जैसे लक्षित गांवों के प्रमुख स्थानों का उपयोग विज्ञापन के लिए भी किया जाएगा और पर्चे वितरित किए जाएंगे। कोविड-19 सुरक्षा दिशानिर्देशों को ध्यान में रखते हुए छोटे मेलों का आयोजन किया जाएगा।
प्रशिक्षण और निगरानी
सभी योजनाओं को शामिल करने के लिए आवश्यक प्रशिक्षण और बुनियादी ढांचा, पहचाने गए गांवों में सभी शाखा कार्यालयों को प्रदान किया जाएगा। योजना की प्रगति और लक्ष्य उपलब्धि को सर्कल, क्षेत्रीय और मंडल स्तरों पर बारीकी से देखा जाएगा। मुख्य पोस्ट मास्टर जनरल द्वारा मासिक प्रगति की समीक्षा की जाएगी।