कोरबा ।कलेक्टर श्रीमती रानू साहू आज जिले के चार गौठानों कोरकोमा, बासीन, कुदमुरा और चिर्रा पहुंची। श्रीमती साहू ने इन गौठानों में संचालित आजीविका संबंधी गतिविधियों के साथ-साथ पशुओं के लिए उपलब्ध सुविधाओं और चारागाह का भी अवलोकन किया। उन्होंने गौठानों में पहुंचकर महिला स्वसहायता समूहों द्वारा किए जा रहे आजीविका संवर्धन के कामों की जानकारी ली और उनकी सराहना की। गौठानों में निरीक्षण के दौरान श्रीमती साहू ने कहा कि राज्य शासन द्वारा महत्वकांक्षी नरवा गरवा घुरवा बाड़ी विकास योजना से गांवो में ही आमदनी बढ़ाने की आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा दिया जा रहा है। इस काम में गांव की महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है। कलेक्टर ने सभी गौठान में स्व सहायता समूह की महिलाओं और गौठान समितियों के पदाधिकारियों से भी बात की। उन्होंने समूह की महिलाओं द्वारा की जा रही आजीविका गतिविधियों और उनसे होने वाले मुनाफा की बात सुन कर समूह की महिलाओं की तारीफ और सराहना की। श्रीमती साहू ने गौठानों में गोबर खरीदी प्रक्रिया, वर्मी खाद उत्पादन, मुर्गीपालन, रेशम धागा उत्पादन, अगरबत्ती निर्माण, दोना-पत्तल निर्माण जैसी रोजगार मूलक गतिविधियों के साथ-साथ चारागाहों का भी अवलोकन किया। श्रीमती साहू ने गौठानों से संबद्ध चारागाहों में चारे के साथ-साथ सामुदायिक सब्जी उत्पादन के लिए भी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।