0 खाली प्लॉट, सरकारी जमीन व गैर मजरुआ जमीन के कागज की हेराफेरी कर ऑनलाइन हो रही इंट्री
कोरबा। जिले में  जमीन की साइबर लूट हो रही है़ आम लोगों की जेब से पैसा उड़ानेवाले  साइबर अपराधियों से भी बड़ा गिरोह जमीन लूट में लगा है. जमीन के ऑन लाइन रिकॉर्ड तैयार करने के नाम पर यह हेराफेरी हो रही है़  जिले के कई पटवारी  कार्यालयों में भू-माफिया व अफसरों का गठजोड़ इस काम में लगा है़ फर्जी दस्तावेज के सहारे मूल रैयतों की जमीन दूसरे के नाम की जा रही है. कोरबा , कटघोर सहित कई अन्य  क्षेत्रो में हेराफेरी के मामले सामने आये है़ं सिर्फ कोरबा जिलेे के  सैकड़ों एकड़ जमीन की साइबर लूट हुई है़ सीएनटी एक्ट की धज्जियां उड़ा कर आदिवासी रैयतों की जमीन भी दूसरे के नाम की गयी है़ मंत्री से लेकर आम आदमी तक की जमीन के कागजों में हेराफेरी कर दी जा रही है.
कई इलाके में फर्जी दस्तावेज के सहारे दाखिल-खारिज (म्यूटेशन) किये गये है़ं पिछले कुछ वर्षों की ऑन लाइन प्रक्रिया देखी जाये, तो दो दर्जन से ज्यादा अंचलाधिकारी जांच के घेरे में आयेंगे़ दरअसल भू-माफिया द्वारा चिह्नित खाली प्लॉट, सरकारी जमीन व गैर मजरुआ जमीन फर्जी कागज के सहारे हेराफेरी करने का धंधा चल रहा है़ फिर इसकी ऑनलाइन इंट्री करा दी जाती है.