कोरबा।जिले में दो नए तहसील बनने के बाद भी जिले के अंतिम छोर पसान को तहसील के दर्जा नही मिल सका । ग्रमीणों को अभी भी लंबी दूरी सफर कर पोड़ी उपरोड़ा तहसील से ही काम निपटाना पड़ेगा। लंबे अर्से की मांग के बाद भी तहसील न बनाये जाने से ग्रामीणों का सपना एक बार टूटता दिख रहा है।

दरअसल पसान क्षेत्र के ग्रामीण लंबे अर्से से पसान को तहसील बनाने की मांग करते रहे है। ग्रमीणों की मांग पर नेता अभिनेता आश्वाशन तो देते रहे बस नही दिया तो ग्रामीणों के साथ और एक फिर ग्रामीण अपने को ठगा महसूस कर रहे है।
राज्य शासन ने राज्य मे 23 नये तहसीलों के गठन को मंजूरी दे दी है। कोरबा जिले को भी दो नई तहसीलों की सौगात मिल गई है। जिले में दर्री और हरदीबाजार को नया तहसील के रूप में दर्जा दिया गया है। 11 नवम्बर से 23 तहसीलों का गठन संबंधी अधिसूचना राजपत्र में प्रकाशित कर दी जायेगी। 23 तहसीलों में कोरबा जिले के भी दो तहसील शामिल हैं। विकासखण्ड कोरबा के दर्री और हरदीबाजार को नये तहसील के रूप में गठन को स्वीकृति दी गयी है। दोनो नये तहसीलों में कुल 96 गांव शामिल होंगे तथा कुल 44 पटवारी हल्का भी सम्मिलित रहेंगे। तहसील दर्री में 48 गांव, 25 पटवारी हल्का के अंतर्गत रहेंगे। तहसील हरदीबाजार में 48 गांव शामिल होेंगे जो 19 पटवारी हल्का के अंतर्गत आयेंगे।