रायपुर। मरवाही उपचुनाव को लेकर कांग्रेस कोई भी गलती नहीं करना चाहती जिससे बाद में पछतावा हो। यही वजह है कि लगातार जेसिसी के दिग्गजों को पाला बदलने में मजबुर होना पड़ रहा है। शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन के बाद खाली हुई मरवाही सीट को जीतने के लिए सभी दल ए़ड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं. इसी चुनावी जंग में JCCJ को बड़ा झटका लगा है. JCCJ के तीन कर्मठ नेताओं ने पीएल पुनिया भूपेश बघेल मोहन मरकाम अटल श्रीवास्तव ने कांग्रेस प्रवेश कराया। तीनों दिग्गज नेताओं ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया है. बिलासपुर के समीर अहमद बबला ,पेंड्रा के पंकज तिवारी और शिवनारायण तिवारी कांग्रेस में शामिल हो गए हैं. ये तीनों दिग्गज जोगी परिवार के बेहद करीबी थे.
नेताओं के पार्टी छोड़ने के बाद अमित जोगी की पहली प्रतिक्रिया सामने आई है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि आदरणीय शिव नारायण तिवारी पिता तुल्य है और समीर अहमद बबला और पंकज तिवारी मेरे भाई समान हैं. कठिन से कठिन समय में उन्होंने मेरे परिवार का साथ दिया था. वे भले ही अब मेरे दल में नहीं हैं लेकिन मेरे दिल में सदैव रहेंगे। मैं उनके उज्जवल भविष्य की कामना करता हूं.