टेंडर डालने को लेकर मचा बवाल …..आपस में भिड़े ठेकेदार….

0
652

कोरबा। मंगलवार को विद्युत् वितरण कम्पनी में टेंडर डालने को लेकर बवाल मच गया। वितरण विभाग के निविदा प्रक्रिया में भाग लेने ठेकेदार आपस में ही भीड़ गए। बिलासपुर से कोरबा निविदा डालने पंहुचे ठेकेदारों ने विभाग के अधिकारियो पर सांठगांठ का आरोप लगाया है। विभाग में खम्भा और विद्युत् लाइन का सुधार के लिए निविदा बुलाई गई है। जिसमे कई वर्षो से कोरबा के एक विशेष गुट का कब्जा रहा है। अधिकारी भी बना बनाया खेल को बिगाड़ना नहीं चाहते और लोकल गुट को सपोर्ट कर रहे है।

शहर के इंदिरागांधी स्टेडियम रोड पर तुलसीनगर में बिजली वितरण कंपनी का मुख्य कार्यालय है। बताया जा रहा है बिजली विभाग ने जिले के ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों के लिए कई काम ठेके पर देने के लिए आवेदन मंगाए हैं। मंगलवार को बिलासपुर जिले से एक ठेकेदार जिले में काम करने लिए टेंडर डालने पंहुचा था। इसकी जानकारी मिलते ही जिले के कई ठेकेदार मौके पर पहुंच गए और दूसरे जिले से आए कान्ट्रैक्टर का विरोध करने लगे। स्थानीय ठेकेदारों का कहना था कि दूसरे जिले से आकर यहां उसको यहां टेंडर नहीं डालना चाहिए। क्योंकि यहां के ठेकेदार भी दूसरे जिलों में काम के लिए नहीं जाते हैं। इसी बात को लेकर बिलासपुर से पहुंचे ठेकेदार का यहां के ठेकेदारों के साथ विवाद हो गया। कार्यालय परिसर में ही ठेकेदार आपस में भिड़ गए। जिससे हंगामे की स्थिति बन गई थी। यहां पहुंचे ठेकेदार विवाद को लेकर कुछ भी कहने से बचते रहे। किसी तरह से मामला शांत हुआ। वहीं इस पूरे मामले को लेकर बिजली वितरण विभाग शहरी क्षेत्र के कार्यपालन अभियंता राजेश ठाकुर ने कहा कि यह ठेकेदारों का आपस का मामला है। इससे विभाग का कोई लेना देना नहीं है। कोई भी नियमों व शर्तों के साथ कार्य के लिए टेंडर फार्म भर सकता है।