रायपुर। डेयरी प्रोजेक्ट लगाने के लिए सिंगापुर और दुबई की कंपनी से 25 करोड़ रुपये का लोन दिलाने के नाम पर रायपुर के एक कारोबारी से 30 लाख रुपये ठगने वाले को पंडरी थाना पुलिस ने छह माह बाद गिरफ्तार कर लिया। आरोपित 71 वर्षीय गिरिराज सिंह रहेल को दिल्ली के नेबसराय साउथ से गिरफ्तार किया गया। हालांकि कोरोना के चलते आरोपित के आवेदन पर साउथ साकेत दिल्ली की अदालत ने एक हफ्ते के भीतर रायपुर की अदालत में उपस्थित होने का आदेश देते हुए ट्रांजिट जमानत दे दी है।
एएसपी क्राइम अभिषेक माहेश्वरी ने बताया कि सोनाल्को एक्सटेंशन प्राइवेट लिमिटेड रायपुर के डायरेक्टर आयुष अग्रवाल एल्युमिनियम एवं यूपीवीसी का व्यापार करते हैं। वह अपने पिता के साथ अहमदाबाद गए थे। वहां उनकी मुलाकात मुकेश पांडेय उर्फ स्वामी से हुई थी। उसने डेयरी प्रोजेक्ट के लिए 25 करोड़ का लोन शिष्य गिरिराज सिंह की कंपनी, पूरब पश्चिम कृषि प्राइवेट लिमिटेड से दिलाने और 30 लाख रुपये बतौर बीमा का दिलाने का झांसा दिया था। मुकेश ने गिरिराज सिंह से भी मिलवाया था। उसने खुद को होटल रमाडा का शेयर होल्डर बताया था। 18 जनवरी को आयुष ने इंडियन ओवरसीज बैंक मुड़का न्यू दिल्ली के खाते में 20 लाख रुपये जमा किया। फिर 25 जनवरी को दस लाख रुपये उसी खाते में जमा करवाया गया। इसके बाद मुकेश के बुलावे पर आयुष दिल्ली गया, जहां लोन स्वीकृत होने का झांसा देकर तीन करोड़ की पहली किस्त का फर्जी चेक थमाया। इसके बाद बैंक में चेक लगाने की तिथि बढ़वाते रहा। शंका होने पर आयुष के पिता व रिश्तेदार दिल्ली जाकर मुकेश से मिले। मुकेश ने फारेस्ट लेन सैनिक फार्म मकान नंबर 09/24 थाना नेबसराय साउथ दिल्ली स्थित कोठी में जाकर गिरिराज से मिलवाया। वहां उन्हें आश्वासन दिया गया कि कुछ कारणों से समय लग रहा है, आपको रुकना पड़ेगा। तब दोनों वापस लौट आए। कई महीने गुजर जाने पर आयुष ने मुकेश से पैसा वापस लौटाने को कहा तो उसने अपनी जमीन बेचकर पैसा वापस करने की बात कही। फिर आयुष को दिल्ली बुलाकर 10 दिन तक इंतजार करवाया। इसके बाद एक-एक करके आयुष के सारे मोबाइल नंबरों को ब्लॉक कर दिया। शिकायत पर पुलिस ने मामले में चार सौ बीसी का केस दर्ज कर जांच शुरू की। आरोपित के दिल्ली में होने की जानकारी मिलते ही टीम वहां पहुंची।
पूछताछ में गिरिराज ने बताया कि अपने खाते में पैसा ट्रांसफर न कराकर मुकेश पांडेय के खाते में जमा कराया था। बाद में 15-15 लाख रुपये दोनों ने बांट लिए थे। मंगलवार को गिरिराज को ट्रांजिट रिमांड पर लेने के लिए चीफ महानगर मजिस्ट्रेट साउथ साकेत कोर्ट दिल्ली में पेश किया गया, जहां पर आरोपित ने वृद्ध और कोरोना संक्रमण होने का हवाला देकर ट्रांजिट जमानत की मांग की। इसे मंजूर कर सात दिनों के भीतर एसीजेएम रायपुर कोर्ट में उपस्थित होने का निर्देश दिया गया। फरार आरोपित मुकेश पांडेय की तलाश में पुलिस टीम लगातार संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है।