निगम की सामान्य में सभा कुछ घंटे शेष, हंगामे का आसार..विपक्ष के आक्रामक तेवर ने सत्ता पक्ष की बढ़ाई ….

0
143

कोरबा।नगर निगम की सोमवार को होने वाली सामान्य सभा में जमकर हंगामे के आसार हैं। प्रदेश में सरकार बदलने के बाद यह निगम की सामान्य सभा की पहली बैठक है। इससे पहले भाजपा की सरकार थी तो पार्टी के पार्षद अनमने ढंग से ही सही, प्रस्तावों को अपनी सहमति दे ही देते थे क्योंकि इन प्रस्तावों से प्रत्यक्ष-परोक्ष तौर पर सरकार जुड़ी होती थी। लेकिन अब हालात बदले हैं, इसलिए भाजपा पार्षद पहली बार कई मुद्दों पर महापौर को घेरने की तैयारी में हैं। महापौर राज किशोर प्रसाद ने भी कह दिया है कि वे हर मुद्दे पर चर्चा करने के लिए तैयार है।
सोमवार को सुबह 11.30 बजे से सामान्य सभा शुरू होगी। पहला घंटा प्रश्नकाल का रहेगा। जिन पार्षदों ने निगम सचिवालय को लिखित में सवाल भेजे हैं उन्हें सामान्य सभा में रखा जाएगा। संबंधित एमआईसी इसका जवाब देंगे। आशंका जताई जा रही है कि प्रश्नकाल से ही भाजपा पार्षद आक्रामक रहेंगे। महापौर और उनकी परिषद को एजेंडों पर सामान्य सभा की मंजूरी लेने में काफी ज्यादा मशक्कत करनी पड़ेगी, क्योंकि भाजपा पार्षद आक्रामक हैं।
सामान्य सभा के पहले ही कांग्रेस के सहयोगी कहे जाने वाले मार्कसवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने जनहित के मुद्दों पर माकपा और कांग्रेस नेताओं के बीच बनी सहमति की याद दिलाते हुए निगम के आगामी बजट में आम जनता को राहत देने वाले कदमों को उठाने की मांग की है। माकपा ने स्पष्ट कहा है कि निगम क्षेत्र में आउट सोर्सिंग और निजीकरण के प्रस्तावों का पार्टी समर्थन नहीं करेगी। पार्टी ने बांकी मोंगरा जोन के पिछड़ेपन को दूर करने के लिए भी बजट आबंटित करने की मांग की है।
इस संबंध में एक ज्ञापन माकपा जिला सचिव प्रशांत झा के नेतृत्व में पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने कोरबा महापौर राजकिशोर प्रसाद को सौंपा है। ज्ञापन में कोरोना संकट से प्रभावित गरीब जनता और लघु व्यापारियों का संपत्तिकर सहित अन्य बकाया कर माफ करने के साथ ही कर्मचारियों के नियमित पदों को भरने व सफाई कर्मियों को दैनिक वेतनभोगियों के रूप में नियमित करने की भी मांग की गई है।