कोरबा। छत्तीसगढ़ में तीसरे चरण के रूप में विधायक आदर्श ग्राम के रूप में प्रदेश के सभी विधायकों को अपने अपने क्षेत्रों में 1 ग्राम पंचायत को आदर्श ग्राम पंचायत के रूप में चुनाव करना है जिससे इन चुने हुए गांव को छत्तीसगढ़ सरकार की विभिन्न महत्वकांक्षी योजनाओं से जोड़कर इस गांव का समुचित विकास किया जा सके और एक आदर्श गांव के रूप में इन चुने हुए गांव का विकास हो जिससे लोग ऐसे आदर्श गांव की तर्ज पर अन्य गांव के ग्राम पंचायत सरपंच सचिव अपने अपने गांव का विकास करें, इन्हीं उद्देश्यों के साथ शासन ने तीसरे चरण के रूप में सभी विधायकों को अपने क्षेत्र में ग्राम पंचायत चुनकर विधायक आदर्श ग्राम के रूप में विकसित करना है,
इसी तारतम्य में कोरबा जिले के विधान सभा पाली तानाखार विधायक मोहित राम केरकेट्टा ने अपने विधानसभा क्षेत्र के ग्राम पंचायत पोड़ी को विधायक आदर्श ग्राम पंचायत के रूप में चुना है विधायक के इस फैसले के बाद पूरी ग्राम पंचायत सहित आसपास के अन्य पंचायतों ने विधायक मोहित राम केरकेट्टा का आभार जताते हुए विश्वास जताया है कि आने वाले समय में चुने हुए विधायक आदर्श ग्राम का शासन की विभिन्न योजनाओं से विकास तो होगा ही इसके साथ साथ अन्य ग्राम पंचायतें भी विधायक मोहित राम केरकेट्टा के प्रयासों के कारण शासन की सभी योजनाओं का लाभ मिलेगा और विधायक आदर्श ग्राम पंचायत की तर्ज पर अन्य पंचायतों का विकास होगा ।
आपको बता दें कि विधायक आदर्श ग्राम के चुनाव का शुभारंभ 29 अक्टूबर 2014 को हुआ था जिसमें छत्तीसगढ़ में इसकी शुरुआत 1 अप्रैल 2015 से हुई थी जिसमें इस योजना के अंतर्गत विधायक को अपने क्षेत्र में 1 ग्राम पंचायत को विधायक आदर्श ग्राम के रूप में शासन के विभिन्न योजनाओं को लेकर विकसित करना होता है जिससे लोगों को शासन द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी हो इसके साथ साथ लोगों का शासन की चलाई जा रही योजनाओं से लाभ भी मिले और वहां का विकास हो इसी उद्देश्य से इस योजना की शुरुआत की गई थी, जिसका लाभ मिलता दिखाई दे रहा हैके ग्राम पंचायत पोड़ी को विधायक मोहित राम केरकेट्टा ने चुना विधायक आदर्श ग्राम