लखनऊ।शादी जीवन का वह हिस्सा होता है जिसे हर इंसान बेहतर से भी बेहतरीन बनाने की कोशिश करता है। इसके लिए व तमाम जतन भी करता है। ऐसे में कोरोना संकट के बीच लखनऊ में एक अनोखी शादी संपन्न हुई जिसमें दुल्हन का मंडप बना पुलिस स्टेशन तो महिला इंस्पेक्टर सुमित्रा देवी ने विवाह संपन्न कराके विदाई करवाई। दूल्हा-दुल्हन ने कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए सभी रस्मों को निभाया।
इस बाबत महिला थाना सुमित्रा देवी के मुताबिक महेश और कोमल शुक्ला जनपथ मार्केट के एक शोरूम में नौकरी करते थे। दोनों में पहले दोस्ती बाद में प्रेम हुआ जिसके बाद दोनों ने कोर्ट मैरिज कर ली थी। वहीं दोनों की जाति अलग होने की वजह से कोमल के पिता इस विवाह के लिए तैयार नहीं हो रहे थे इसके बाद परिवारवालों की मर्जी के खिलाफ दोनों ने कोर्ट मैरिज कर ली क्योंकि दोनों बालिग थे।

कुछ समय पहले ही कोमल के पिता को दोनों की कोर्ट मैरिज की जानकारी मिली। जिसके बाद कोमल के पिता ने महेश के खिलाफ महिला थाना कोतवाली में तहरीर दी थी। महिला थाना की इंस्पेक्टर ने महेश और कोमल दोनों को थाने पर बुलाया था। जिसके बाद महिला थाना प्रभारी ने कोमल के पिता को भी समझाया कि दोनों कोई भी कानूनन अपराध नहीं कर रहे हैं, दोनों बालिग है। उन्हें अपनी मर्जी से शादी करने का हक है। आखिरकार कोमल के पिता मान गए और महिला थाने में ही कोरोना प्रोटोकॉल के तहत दोनों की शादी हुई।