कोरबा।छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के प्रांतीय आव्हान पर 20 जुलाई को दोपहर 1:30 बजे कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर डिप्टी कलेक्टर हरिशंकर पैकरा को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम लंबित 16% महंगाई भत्ता का ज्ञापन सौंपा।
संयोजक प्यारेलाल चौधरी ने बताया कि छत्तीसगढ़ शासन द्वारा प्रदेश के कर्मचारियों को 12% महंगाई भत्ता दिया जा रहा है छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन जुलाई 2019 से लंबित 5% महंगाई भत्ता दे य तिथि से स्वीकृत करने संघर्षरत रहा है फेडरेशन 14 सूत्रीय में सम्मिलित इस मांग को लेकर दिसंबर 2020 में कलम रख… मसाल उठा.. आंदोलन तीन चरणों में कर चुका है इस तरह केंद्र के कर्मचारियों को 28% महंगाई भत्ता मिलेगा जबकि प्रदेश के कर्मचारियों को वर्तमान में मात्र 12% महंगाई भत्ता ही मिल रहा है जिससे कर्मचारियों को प्रतिमाह 5000 हजार का नुकसान उठानी पड़ रही है इसके विरोध में मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन कलेक्टर कोरबा को सौंपा गया।
इस अवसर पर संरक्षक केआर डहरिया ,संयोजक प्यारे लाल चौधरी,कार्यकारी संयोजक जनार्दन उपाध्याय ,,महासचिव आर के पांडे,, सहसंयोजक तरुण राठौर, गजानन दुबे ,संतोष शुक्ला, कोषाध्यक्ष विनय सोनवानी ,प्रवक्ता अनूप , प्रचार सचिव राजेश राय ,ओम प्रकाश बघेल, आरके साहू, देवेंद्र काठले, विनोद यादव, देव कुमार बघेल, राजेश कुमार तिवारी, ए पी शुक्ला, रामचंद्र नामदेव, मोहर लाल कुटे ,एसके द्विवेदी, प्रभात मिश्रा ,एसएन शिव, एनके राजवाड़े ,बी आर वाघमारे, ललित कुमार चंद्रा, गोपाल वर्मा, जीपी कुर्रे,, एस आर यादव ,यशपाल राठौर,, अजय दुबे,के आर टंडन ,संतोष , पी पी यादव, सुभाष डन नसेना,केबी मरावी ,नीता यादव, इंदु राठौर ,अन्नपूर्णा पांडे ,इंदु प्रसाद, सुषमा, पुष्पा ,सीमा सहित कर्मचारीगण भारी संख्या में उपस्थित थे।