पटना/ए.। बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले एनडीए को बहुमत मिला है। जिसकी खुशी में भाजपा का विजयोत्सव भी संपन्न हो गया। लेकिन इस विजयोत्सव के एक दिन बाद जदयू नेता तथा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बड़ा बयान दिया है, जिससे बिहार की राजनीति में खलबली सी लगने लगी है।

नीतीश कुमार (nitish kumar statement on cm post) ने कहा कि उन्होंंने अब तक मुख्यमंत्री पद का दावा नहीं किया है। मुख्यमंत्री कौन होगा इसको लेकर फैसला एनडीए करेगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पद के लिए मेरा कोई भी वैक्तिक आग्रह नहीं है। एनडीए का निर्णय हमें मान्य होगा।
उल्लेखनीय है कि नीतीश के जदयू को भाजपा से कम सीटें मिली हैं। जबकि भाजपा एनडीए में सबसे बड़ी पार्टी बनकर बड़े भाई की भूमिका में आ गई है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस बात का हवाला देकर जब नीतीश से पूछा गया कि क्या मुख्यमंत्री की कुर्सी जाएगी तो उन्होंने उक्त प्रतिक्रिया दी।
उल्लेखनीय है कि इससे पहले राजद नेता तेजस्वी यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि नीतीश कुमार ने कुछ घोटाला करके उनकी सीटें कम की है। बैलेट पेपर से हुए मतों की गिनती में उन्होंने गड़बड़ी की आशंका व्यक्त की। उन्होंने इनकी दोबार गिनती किए जाने की मांग की।