कोरबा। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजनांतर्गत वित्तीय वर्ष 2020-21 में अब तक कुल 86 करोड़ 03 लाख 95 हजार रूपये का मजदूरी भुगतान किया जा गया है। दिनांक 27 मार्च को एक ही दिन में 15 करोड़ रू से ज्यादा का मजदूरी भुगतान किया गया। होली त्यौहार के पूर्व श्रमिको के खातो में मजदूरी राशि जमा होने से मजदूरो में उत्साह की लहर फैल गई।

कोरबा जिले में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गांरटी योजना अपने मुख्य उद्देश्य पंजीकृत ग्रामीण परिवारों को वर्ष में 100 दिवस का रोजगार उपलब्ध कराने के साथ ही स्थायी परिसम्पत्तियों का निर्माण, हितग्राही मूलक एवं सामुदायिक कार्यो का निर्माण भी किया जा रहा है, जो कि ग्राम विकास में सहायक सिद्ध हो रहा है।
श्रीमति किरण कौशल कलेक्टर कोरबा के द्वारा मनरेगा के कार्यो के सुचारू संचालन एवं क्रियान्वयन हेतु विशेष प्रयास किये गये है, जिसके सकारात्मक परिणाम जिले में मनरेगा की उपलब्धियों के रूप में देखे जा सकते है।
श्री कुंदन कुमार, मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत कोरबा, के द्वारा कोरोना जैसी विषम परिस्थतियों में मनरेगा के तहत श्रम मूलक कार्यो की उपलब्धता, जल संवर्धन, जल संरक्षण संबंधी कार्य, समयबद्ध मजदूरी भुगतान के लिए किये गये सतत् निरीक्षण एवं दिये गये निर्देशों के फलस्वरूप जिले में इस वर्ष 27 मार्च 2021 तक 86 करोड 03 लाख 95 हजार रू का मजदूरी भुगतान किया जा चुका है, जो कि इस वर्ष की बड़ी उपलब्धि है।
27 मार्च 2021 तक जनपद पंचायत करतला में 10 करोड़ 49 लाख 86 हजार रू, कटघोरा में 6 करोड 09 लाख 02 हजार रू, कोरबा में 13 करोड़ 71 लाख 82 हजार रू, पाली में 26 करोड़ 23 लाख 43 हजार रू एवं जनपद पंचायत पोडी उपरोडा में 29 करोड़ 49 लाख 64 हजार रू इस प्रकार कुल 86 करोड 03 लाख 95 हजार रू का मजदूरी भुगतान किया जा चुका है, जो कि मजदूरो के खाते में भेजा जा चुका है। यदि किसी श्रमिक को मजदूरी भुगतान प्राप्त नहीं हुआ है या मजदूरी भुगतान के विषय में किसी भी प्रकार संशय हो तो श्री मनोज रजक, प्रभारी शिकायत समन्वयक, मनरेगा के दूरभाष न0 7610355186 पर शिकायत दर्ज करा सकते है।