काबूल.। एक महिला पुलिस अधिकारी पर जानलेवा हमला (attack on woman police officer) किया गया। महिला पुलिस अधिकारी की चाकू से आंखें निकाल ली और फिर उस पर गोली भी चलाई। महिला का कसूर सिर्फ इतना था कि वह नौकरी करती हैं। मामला अफगानिस्तान के गजनी प्रांत का है।

रायटर की खबर के मुताबिक हमलावरों ने ये सब सिर्फ इसलिए किया क्योंकि महला नौकरी करती है। पीड़िता का नाम खटेरा है। मौके पर मौजूद लोग खटेरा को तत्काल अस्पताल ले गए, जिससे उनकी जान बच गई। रिपोर्ट के मुताबिक खटेरा गजनी प्रांत के एक थाने में नौकरी करती है। तीन माह पूर्व क्राइम ब्रांच अधिकारी के रूप में उनकी नियुक्ति हुई।
हमले (attack on woman police officer) के बारे में खटेरा ने बताया कि अधिकारी के रूप में नियुक्त हुए मुझे सिर्फ तीन माह हुए हैं और मुझ पर ऐसा हमला किया गया। मेरे पिता मेरी इस नौकरी के खिलाफ थे। कई बार ड्यूटी पर जाने के वक्त वे मेरे पीछे से आते।
उन्होंने क्षेत्र के तालिबान से संपर्क कर मुझे नौकरी पर जाने से रोकने के लिए कहा था। गजनी पुलिस प्रवक्ता द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार हमले के पीछे तालिबान का हाथ है। खटेरा के पिता को भी हमले का षड्यंत्र रचने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। हालांकि तालिबान ने इस घटना के पीछे अपना हाथ होने से इनकार किया है। तालिबान प्रवक्ता ने कहा है कि इस प्रकरण के बारे में उन्हें जानकारी थी, लेकिन यह िसर्फ एक पारिवारिक विवाद था। इसमें उनका कोई हाथ नहीं था।