The duniyadari news. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar chunav result) में 43 सीटों के साथ जेडीयू के तीसरे नंबर पर जाने के चलते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish kumar) एलजेपी प्रमुख चिराग पासवान (Chirag paswan) पर नजर टेढ़ी कर चुके हैं। नीतीश कुमार (Nitish kumar) ने बीजेपी को साफ संकेत दे दिया है कि चिराग पासवान को केंद्र सरकार से बाहर करने पर फैसला लिया जाए।
बिहार विधानसभा चुनाव में 43 सीटों के साथ जेडीयू के तीसरे नंबर पर जाने के चलते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish kumar) एलजेपी प्रमुख चिराग पासवान पर नजर टेढ़ी कर चुके हैं। नीतीश कुमार (Nitish kumar) ने बीजेपी को साफ संकेत दे दिया है कि चिराग पासवान को केंद्र सरकार से बाहर करने पर फैसला लिया जाए। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि चिराग पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में बने रहने के बारे में केवल बीजेपी ही फैसला कर सकती है। लोक जनशक्ति पार्टी ने इस बार एनडीए से अलग होकर अकेले बिहार चुनाव लड़ा था और अनेक सीटों पर इसके कारण जेडीयू को नुकसान उठाना पड़ा।
कुमार ने कहा कि बिहार विधान चुनाव 2020 में एनडीए को बहुमत प्राप्त हुआ है और शुक्रवार को एनडीए की बैठक होगी तथा औपचारिक तौर पर गठबंधन के नेता की घोषणा होगी। चुनाव में एनडीए की जीत के बाद नीतीश कुमार ने पहली बार संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘शपथग्रहण समारोह की तारीख अभी तय नहीं की गई है। कल (शुक्रवार) को चारों घटक दलों की बैठक में चर्चा कर सभी चीजें तय की जाएंगी।’
क्या बिहार में NDA को मजबूत करेंगे कांग्रेस के नवनिर्वाचित विधायक? जीतन मांझी के ऑफर से चर्चाओं का बाजार गरम
यह पूछे जाने पर कि क्या आप केंद्र में एनडीए से एलजेपी को हटाने के लिए बीजेपी से कहेंगे, कुमार ने कहा, ‘आप ऐसा सुझाव दे सकते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘यह तो बीजेपी को निर्णय लेना है। मुझे इस बारे में कुछ नहीं कहना है।’ मुख्यमंत्री पद को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘एनडीए की बैठक होगी तो उसमें ही तय हो जाएगा, इसमें हम लोगों को क्या कहना है और इसके बाद औपचारिक घोषणा हो जाएगी।’
गौरतलब है कि बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू को 43 सीट प्राप्त हुई हैं, जबकि 2015 के चुनाव में उनकी पार्टी को 71 सीटों पर जीत हासिल हुई थी। इस चुनाव में बीजेपी को 74 सीट मिली हैं। सरकार के कार्यक्रम के बारे में एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि जब सरकार बनती है तब आगे का कार्यक्रम तय होता है।