राज्य सरकार की रीति-नीति से आम आदमी की ताकत बनी बिजली

0
243

0 शहरी क्षेत्र में बिजली बिल भुगतान हेतु 15 काॅमन सर्विस सेंटर शुरू
रायपुर। प्रदेश में विद्युत की दर में बढ़ोत्तरी नहीं होने तथा राज्य सरकार की हाफ रेट पर बिजली योजना के अलावा उपभोक्ताओं को दी जा रही अनेक रियायतों के कारण बिजली आम आदमी की पंहुच और ताकत बन गई है। राज्य सरकार की रीति-नीति को ध्यान में रखते हुए छत्तीसगढ़ स्टेट पाॅवर कंपनीज द्वारा बिजली उपभोक्ताओं की सेवा सुविधा में सुधार हेतु ‘‘न्यू टेक्नालाजी‘‘ सहित सरल प्रक्रियाओं-प्रणालियों को अपनाने कारगर पहल की गई है। इस दिशा में आगे बढ़ते हुए ग्रामीण क्षेत्रों की भांति शहरी क्षेत्र में भी बिजली बिल भुगतान हेतु काॅमन सर्विस सेंटर (सीएससी) शुरू किये गये हैं। रायपुर शहरी क्षेत्र के उपभोक्ताओं के लिए 15 सीएससी की शुरूआत की गई है। उक्त जानकारी रायपुर शहरी क्षेत्र के मुख्य अभियंता  आर.ए.पाठक ने पाॅवर कंपनीज के जनसम्पर्क विभाग की विज्ञप्ति के माध्यम से दी।
आगे उन्होंने बताया कि इन सेंटरों में बिल भुगतान करने हेतु किसी भी प्रकार का अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जाता। उपभोक्ता सेवा में यह पूरी तरह से निःशुल्क सुविधा है। यहां नगद बिजली बिल जमा करने वाले उपभोक्ताओं की राशि सीधे पाॅवर डिस्टीब्यूशन कंपनी के खाते में चली जाती है तथा उपभोक्ता को पावती दी जाती है। सीएससी सेंटर से प्राप्त पावती पर छपे क्यू आर कोड को स्केन करके बिजली भुगतान की सत्यता की जांच उपभोक्तागण सहजता से कर सकते है। पाॅवती को स्केन करने पर बिल भुगतान का विवरण दिखाई देता है। किसी भी प्रकार की धोखाधड़ी, फर्जी होने की स्थिति में उपभोक्तागण पाॅवर कंपनीज के केन्द्रीकृत काॅल सेंटर ‘1912‘ पर शिकायत दर्ज कर सकते है। उपभोक्तागण किसी भी स्मार्ट फोन में ‘क्यू आर‘ स्केनर को फ्री डाउनलोड कर सकते है।