चोरी की रेत से बन रहा पंचायत भवन ,खनिज राजस्व का हो रहा नुकसान

0
271

कोरबा।चोरी के रेत से नए पंचायत भवन का निर्माण चल रहा है। जिले में परिसीमन के बाद अस्तित्व में आये नए पंचायतों में पंचायत भवन का निर्माण कराया जा रहा है। भवनों को पूरा कराने के लिए प्रशासन के उच्च अधिकारी भवन को जल्द पूर्ण कराने दबाव बना रहे है। जिससे पंचायत प्रतिनिधि रेत चोरी करने मजबूर है। रेत उत्खनन पर रोक लगने के बाउजूद हो रहे उत्खनन व परिवहन से खनिज विभाग को मिलने वाली लाखो का राजस्व हानि हो रहा है।
जिले में 23 नए पंचायात भवन का निर्माण महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना से बनाया जा रहा है।रेनी सीजन होने के कारण नदी से रेत उत्खनन प्रतिबंधित है। इसके बाद भी उच्च अधिकारियों के दबाव में पंचायत प्रतिनिधि अवैध रूप से रेत उत्खनन कर भवन निर्माण कर रहे है। चोरी छिपे  रेत निकलते समय के कई सरपंचों की गाड़ी भी जब्त हो रही है।इसके बाद भी उच्चाधिकारियों के तुगलगी फरमान से डरकर भवन निर्माण करा रहे है। जानकारी के मुताबिक साहब का फरमान है कि रात को भी पंचायत भवन में कार्य कराया जाए और दो अक्टूबर तक पूर्ण कराया जाए। ग्रामीण अंचल के भोले भाले अदिवासियों को धमकाकर काम कराना कहाँ तक उचित है। वह तब जब भवन निर्माण के लिए जिला स्तर से किसी भी ग्राम पंचायत को राशि नहीं दी गई हो।
रोगदा सरपंच ने राशि देने लिखा पत्र
नए पंचायत भवन निर्माण के लिए राशि नहीं मिलने से  नाराज सरपंच अब कार्य के लिए राशि की मांग कर रहे है। रोगदा सरपंच ने जनपद सीईओ करतला को पत्र लिखते हुए राशि भुगतान करने की बात कही है। उन्होंने कहा है कि पंचायत भवन का निर्माण डीपीसी लेबल के ऊपर तक हो चुका है और आगे के कार्य को करने के लिए राशि नही है। जितना काम हुआ है उसका भी ब्यापारियों को भुगतान नही किया है जिससे दुकानदार समान देने में असमर्थता जता रहे है।