लॉकडाउन का पहला दिनः मुख्य मार्गों पर सन्नाटा, सड़क पर उतरे कलेक्टर-एसपी

0
172


कोरबा। उर्जाधानी समेत जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण का चेन तोड़ने के लिए मंगलवार की रात से एक दस दिनों के लिए पूर्ण लॉकडाउन कर दिया गया है। यह 02 अक्टूबर की रात 12 बजे तक चलेगा। बुधवार को पहले दिन सड़क पर सन्नाटा पसरा रहा। इक्के-दुक्के दोपहिया और चारपहिया वाहन ही सड़क पर दिखे। आने-जाने वाले लोगों को चौक-चौराहे पर तैनात पुलिस रोककर बाहर निकलने का कारण पूछती रही। इस दौरान पुलिस ने कई गाड़ी जब्त की और लोगों पर चालानी कार्रवाई की। पूर्ण लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के लिए कलेक्टर किरण कौशल और एसएसपी कीर्तन राठौर ने दल-बल के साथ शहर भर में जायजा लिया। इसके अलावा आउटर इलाके में भी पुलिस थानों की पैट्रोलिंग टीम घूम-घूमकर लोगों को घरों से बाहर न निकलने के लिए समझाती रही।
अफसरों ने की नियमों का पालन करने की अपील
लॉकडाउन का जायजा लेने के लिए खुद कलेक्टर, एसएसपी समेत आलाधिकारी कोरबा की सड़कों पर निकले। लॉकडाउन को लेकर की गई व्यवस्था का निरीक्षण किया। इसके साथ ही कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए आम जनता से सहयोग मांगते हुए लॉकडाउन के नियमों का पालन करने की अपील की।किरण कौशल ने कहा कि बढ़ते संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए जिले में दस दिनों का लॉकडॉउन लगाया गया है। जब तक अति आवश्यक न हो, अपने घरों से न निकलें। वहीं एसएसपी कीर्तन राठौर ने कहा कि इस बार के लॉकडाउन में थोड़ी सख्ती जरूर है। शहर की सड़कों पर पर्याप्त संख्या में बैरिकेड लगाए गए हैं। कोरबा पुलिस की टीम ने कई जगह चेकिंग पॉइंट बनाया है। साथ ही अंतर जिला सीमाओं पर 24 घंटे पर्याप्त बल तैनात है। कुछ अति आवश्यक सेवाएं हैं, जिनमें लोगों को जाने दिया जा रहा है. जैसे कि मेडिकल सेवा, निगमकर्मी, स्वास्थ विभाग, साथ ही जो 24 घंटे चलने वाली फैक्टरियां हैं। इन सभी लोगों को आने-जाने की अनुमति दी जा रही है। आम जनता के सहयोग से ही इस लॉकडाउन को सफल बनाया जा सकता है।