कोरबा ।छत्तीसगढ़ के स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ आलोक शुक्ला कोरबा जिले के प्रवास पहुंचे। उन्होंने जिले में प्रस्तावित 3 इंग्लिश मीडियम स्कूलों को शुरू करने की तैयारियों की समीक्षा की।कोरबा प्रवास के दौरान प्रमुख सचिव डॉ. शुक्ला ने शिक्षा विभाग में खनिज न्यास मद में हो रहे बंदरबांट के सवाल पर कहा कि ऐसी शिकायतों की जांच की जाएगी, जहां गड़बड़ी पाई जाएगी, वहां कार्रवाई भी होगी।
उन्होंने ‘नो स्कूल, नो फीस ‘मामले पर कहा कि सरकार जल्द इस पर फैसला लेगी। स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ आलोक शुक्ला गुरुवार को कोरबा जिले के प्रवास पर पहुंचे रहे । इस दौरान उन्होंने पहले कोरबा जिले में प्रस्तावित पम्प हाउस स्थित इंग्लिश मीडियम स्कूल की तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल से तीनो स्कूलों के लिए आधारभूत संरचनाओ, टिचिंग स्टाफ़ और अन्य ज़रूरतों की जानकारी ली। पम्प हाउस के स्कूल का निरीक्षण करते इस स्कूल में विकसित की गई सुविधाओं और उनसे पढ़ाई के लिए बने सकारात्मक माहौल की प्रमुख सचिव ने प्रशंसा की। प्रमुख सचिव ने स्कूलों की सुविधाओं और आधारभूत संरचनाओं के साथ-साथ विध्यार्थियो की पढ़ाई के लिए अब तक किए गए इंतज़ामों का पीपीटी भी देखा। मीडिया से चर्चा में डॉ शुक्ला ने बताया कि यह मॉडल स्कूल न केवल कोरबा बल्कि छत्तीसगढ़ का सबसे बढ़िया स्कूल बने यही हमारी अपेक्षा है।
शिक्षक संघ के पदाधिकारियो ने रखी बात
प्रदेश सरकर के शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ आलोक शुक्ला से सौजन्य मुलाकात करने कावेरी रेस्ट हॉउस पहुंचे शिक्षा विभाग के अलग अलग फेडरेशन के लोगो को कटघोरा एसडीएम सूर्य किरण तिवारी अग्रवाल ने मिलने से रोक दिया , बाद में काफी मशक्कत के बाद उन्होंने ने फेडरेशन के पदाधिकारियों को मिलने की अनुमति दी। शिक्षा विभाग संगठन के लोगो प्रमुख सचिव से मिलकर विभाग में होने वाली परेशानियों से अवगत कराया।