कोरबा। कलेक्टर श्रीमती रानू साहू की अध्यक्षता में आज कलेक्टोरेट सभा कक्ष में जिला संस्कृति एवं पुरातत्व संघ की बैठक संपन्न हुई। बैठक में अधोसंरचना एवं उन्नयन विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं पाली तानाखार क्षेत्र के विधायक मोहित राम केरकेट्टा भी मौजूद रहे। इस महत्वपूर्ण बैठक में कोरबा शहर में स्थित जिला पुरातत्व संग्रहालय के विकास और संग्रहालय को आमजनों के लिए आकर्षक रूप देने पर चर्चा की गई। जिला संग्रहालय के रंगरोगन और पुरातात्विक चीजों को रखने के लिए पेडस्टल निर्माण पर भी चर्चा की गई। संग्रहालय को आकर्षक रंग-रोगन से सुसज्जित किया जाएगा और अधिक से अधिक पुरातात्विक वस्तुओं को रखने के लिए पैडस्टलों का निर्माण भी किया जाएगा। बैठक में संग्रहालय के उन्नयन कार्य सहित पुरातात्विक धरोहरों के लिए सर्वे करने के संबंध में चर्चा की गई। पुरातात्विक धरोहरों की खोज के लिए ग्रामवार सर्वे करने और गांव में रखी एवं स्थापित धरोहरों के बारे में पता लगाने के लिए भी चर्चा हुई। बैठक में विधायक श्री केरकेट्टा ने कहा कि कोरबा जिला में प्राचीन और पुरातात्विक चीजों की उपलब्धता है साथ ही कोरबा जिला में प्रकृति की नैसर्गिक सुंदरता से परिपूर्ण स्थल भी मौजूद है। जिले में मिलने वाले प्राचीन महत्व के वस्तुओं को जिला संग्रहालय में सुसज्जित तरीके से रखा जाएगा जिससे जिलेवासियों सहित पर्यटन के लिए कोरबा आने वाले लोग भी आसानी से अवलोकन कर सकेंगे। बैठक में पुरातात्विक चीजों के संकलन के साथ ही जिले में मौजूद नर्सिंग गंगा, चैतुरगढ़, टिहरीसरई और बुका को भी पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने पर चर्चा हुई।
बैठक में कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने कोरबा जिले में राष्ट्रीय स्तर की शोध-संगोष्ठी के आयोजन के लिए भी चर्चा की। उन्होंने संगोष्ठी में कोरबा जिले के पुरातात्विक के महत्व के स्थलों एवं शैलाश्रयों आधारित संगोष्ठी कराने के प्रस्ताव पर भी बात की। श्रीमती साहू ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन स्थल के रूप में विकसित हो रहे सतरेंगा में राष्ट्रीय स्तर की संगोष्ठी कराना बेहतर विकल्प है। सतरेंगा में संगोष्ठी आयोजन होने से वैश्विक स्तर पर सतरेंगा पर्यटन स्थल को पहचान मिल सकती है। बैठक में पुरातत्व संघ कोरबा में पूर्व में कार्यरत चौकीदार स्व. भोलाराम श्रीवास की मृत्यु पश्चात अप्रेल माह का वेतन उनके परिजनों को देने के निर्देश कलेक्टर श्रीमती साहू ने अधिकारियों को दिए । बैठक में संग्रहालय में नए चौकीदार की नियुक्ति के संबंध में भी चर्चा हुई। कलेक्टर श्रीमती साहू ने जिला संग्रहालय में कार्यरत मार्गदर्शक हरिसिंह क्षत्री के वेतन विसंगति दूर करने के लिए प्रस्ताव संचालनालय संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग को भेजने के भी निर्देश अधिकारियों को बैठक में दिए।