The duniyadari news।नगर निगम भ्रष्टाचार की नई कहानियां गढ़ रहा है… कहीं ठेकेदार सफाईकर्मियों की खेल करते हैं तो कहीं नगर निगम की गाड़ियां डीजल में झोल करती हैं… लेकिन अब जो मामला हम आपको बताने जा रहे हैं, वो इन भ्रष्टाचारों से कहीं ऊपर है…. सरकार में बैठे भ्रष्टाचार के आका, नगर निगम में ईमानदारी की सफाई कर रहे हैं… जरा सोचिए! एक कम्प्यूटर ऑपरेटर को पीसीएस रैंक का अधिकारी बना दिया जाए तो क्या होगा… ध्यान दीजिएगा कोई कम्प्यूटर ऑपरेटर पीसीएस बना नहीं है, उसे पीसीएस रैंक का अधिकारी बना दिया गया है… लखनऊ नगर निगम के जोन-चार के जोनल अधिकारी सुजीत श्रीवास्तव पर आरोप हैं कि योगी सरकार के एक बड़े नेता की मेहरबानी से गोरखपुर डेवलपमेंट अथॉरिटी में कभी कम्प्यूटर प्रोगामर रहे सुजीत को लखनऊ में जोनल अफसर बना दिया गया। सूत्रों का कहना है कि नगर निगम के पास सुजीत की सर्विस बुक तक नहीं है। यानी बड़े अफसरों की छत्रछाया में सुजीत बिना सर्विस बुक के वेतन उठा रहे हैं।