कोरबा । सैनिक माइनिंग कैम्प में हुई लुट कांड की जांच मेंबड़ा खुलासा हुआ है। वारदात में संदिग्ध कैशियर के घर एक किलो सोना बरामद हुआ है। हालाकि पुलिस की जांच अभी भी जारी है।घटना के दूसरे दिन पुलिस ने कंपनी के ही कैशियर के घर से एक किलो सोना बरामद किया है। इसके पहले इस आरोपित के पास से 10 लाख 60 हजार रुपये पुलिस बरामद कर चुकी है। पुलिस का कहना है कि लूट की वारदात तो हुई है, पर जिस कर्मचारी के घर से नकद व सोना बरामद किया गया है। अभी यह जांच की जा रही कि यह लूटी गई राशि का हिस्सा है या फिर उसने गबन किया है।
एसईसीएल की गेवरा परियोजना में संचालित कैम्प में रात को दो कर्मचारी ने शनिवार की देर रात अपने अधिकारियों को कार्यालय के एक आलमारी में रखे रूपए लूट लिए जाने की सूचना दी। उन्होंने बताया कि लुटेरों को रोकने की कोशिश की, तो हमला कर दिया और एक कमरे में बंद कर भाग गए। सुरक्षा कर्मियों ने मामले की जानकारी अपने वरिष्ठ अधिकारियों को दी। घटना की सूचना मिलने के बाद से पुलिस की अलग-अलग 15 टीम मामले की जांच में लगी है। कंपनियों के कर्मचारियों से पूछताछ के बाद सहायक कैशियर जवाहर लाल प्रसाद श्रीवास्तव निवासी रोशन गंज, थाना रोशन गंज जिला गया (बिहार) के घर से 10.60 लाख रुपये पुलिस ने रविवार की देर शाम ही बरामद कर लिया। सोमवार को पुलिस की टीम ने जवाहर के घर से करीब 50 लाख का एक किलो सोने की बिस्किट बरामद की।
वर्जन
सैनिक माइनिंग में लूट की वारदात में अन्य आरोपियो की तलाश जारी है। सोने की बिस्किट6 कंपनी की है या फिर कैशियर की, अभी यह स्पष्ट नहीं हो सका है। बहरहाल पुलिस इस मामले में धारा 394, 406, 458, 34 के तहत अपराध दर्ज कर मामले की हर पहलू पर बारीकियों से जांच कर रही है।
केएल सिन्हा ,सीएसपी दर्री