कोरबा। खुशबुदार और अच्छी गुणवत्ता के साबुन बनाने के लिये बड़े-बड़े फैक्ट्री और महंगे संसाधनों की जरूरत की अवधारणा को कोरबा जिले की महिलायें गलत साबित कर रहीं हैं। खेती-किसानी का काम करने वाले हाथों ने अब घर पर ही साबुन बनाने का काम शुरू कर दिया है। महिलाओं के समूह द्वारा घर पर ही खुशबुदार और केमिकल फ्री साबुन बनाने का काम किया जा रहा है। बिहान योजना के द्वारा वित्त पोषित स्वसहायता समूह की महिलायें साबुन बेचकर अच्छा मुनाफा कमा रहीं हैं। विकासखण्ड कोरबा के ग्राम कटबितला के जय माँ दुर्गा महिला स्वसहायता समूह घर पर ही साबुन बनाने का काम कर रहीं हैं। ग्रामीण अंचल में साबुन बनाकर अलग-अलग जगहों में बेचने से समूह की महिलाओं को अतिरिक्त आमदनी भी हो रही है। स्वसहायता समूह की महिलाओं ने अभी तक आठ हजार रूपये से अधिक का साबुन बनाकर बेच चुकीं हैं। महिला स्वसहायता समूह द्वारा बनाये गये साबुनों की मांग अलग-अलग जगहों से आ रही है। समूह द्वारा बनाये गये साबुन को स्थानीय बाजार तथा गांव में ही बेचा जा रहा है। समूह द्वारा बनाये गये केमिकल फ्री साबुन बनाकर बेचने से ग्रामीण अंचल की महिलायें आर्थिक और सामाजिक रूप से समृद्ध और कुशल हो रही है। शासन की बिहान योजना के द्वारा महिलाओं को घर पर ही अधिक आमदनी कमाने का जरिया प्रदान हो रहा है।