मुरैना।मध्यप्रदेश में रहने वाली भाई-बहन की जोड़ी ने CA फाइनल की परीक्षा में बड़ा मुकाम हासिल किया है. इस परीक्षा में बहन ने पूरे देश में पहला स्थान हासिल किया. वहीं, भाई की 18वीं रैंक आई है. दरअसल इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया ने सोमवार को सीए फाइनल और फाउंडेशन का रिजल्ट जारी किया.

सीए फाइनल में मुरैना की नंदिनी अग्रवाल की ऑल इंडिया रैंक 1 रही. जबकि उनके भाई सचिन अग्रवाल की रैंक ऑल इंडिया में 18 रही. भाई-बहन बचपन से मुरैना के विक्टर कान्वेंट स्कूल में पढ़े हैं और दोनों ने इस परीक्षा के लिए साथ मे ही तैयारी शुरू की थी.

नंदिनी ने हासिल किए 614 अंक

नंदिनी को 800 में से 614 अंक मिले हैं. वे देश में पहले स्थान पर रही हैं. नंदिनी और सचिन ने बताया कि दोनों ने साथ में तैयारी करते हुए इस बात का हमेशा ध्यान रखा कि पढ़ाई में गंभीरता रहे. दोनों झगड़ते भी खूब थे लेकिन पढ़ाई के समय दोनों प्रश्नपत्र हल करने के बाद एक दूसरे की कॉपी चेक करते थे.

पहले ही प्रयास में मिली सफलता

नंदिनी ने बताया कि उनकी और उनके भाई की किस्मत अच्छी थी कि उन्हें पहले ही प्रयास में सफलता मिल गई. आमतौर पर जब इस तरह की परीक्षाओं में दो-तीन प्रयास के बाद सफलता नहीं मिलती तो परिवार और दोस्तों का दबाव आने लगता है लेकिन उन दोनों के साथ ऐसा कुछ नहीं हुआ. नंदिनी ने बताया कि उनके माता पिता ने तैयारी के समय उसकी पूरी मदद की और हमेशा उसे उत्साहित ही किया.

भाई सचिन ने बताया कि उसे इस बात की खुशी है कि उसका और उसकी बहन दोनों की रैंक अच्छी आई है. सचिन के मुताबिक, उन्हें 70% अंक हासिल हुई हैं और वे इससे संतुष्ट हैं और उन्हें पता था कि उनकी बहन अच्छा करेगी. सचिन ने कहा, नंदिनी को पहली रैंक मेहनत के वजह से ही मिली है. दोनों भाई-बहन सामान्य परिवार से आते हैं. इनके पिता इनकम टैक्स कंसल्टेंट हैं, तो मां गृहिणी हैं.

शिवराज ने दी बधाई

भाई और बहन की इस सफलता पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दोनों को बधाई दी है. सीएम शिवराज ने ट्वीट कर लिखा है कि ‘नंदनी अग्रवाल को परीक्षा में ऑल इंडिया रैंक वन आने पर दिल से बधाई और उनके भाई सचिन को ऑल इंडिया रैंक 18 आने पर शुभकामनाएं. हमें आप पर गर्व है’.