छत्तीसगढ़ । एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) ने बड़ी कार्रवाई की है। एसीबी की टीम ने दो अलग-अलग मामले में शिक्षा विभाग के संयुक्त संचालक और लेखापाल को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। शिकायत मिलने के बाद यह बड़ी कार्रवाई की गई है।

पद परिवर्तन के लिए मांगी 50 हजार रिश्वत
मिली जानकारी के अनुसार एसीबी ( ACB Raid ) की टीम ने जिन अधिकारियों पर कार्रवाई की है, उनमें रायपुर लोक शिक्षण संचालनालय के संयुक्त संचालक एन के अग्रवाल है। ACB टीम ने अग्रवाल को 50 हजार रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है। अग्रवाल ये रूपए पदांकन परिवर्तित करने के एवज में ले रहे थे। पीडि़त ने इसकी शिकायत एसीबी में कर दी, फिर पेंशनबाड़ा रायपुर में छापामार कार्रवाई की गई।

GPF, GIS, ग्रेच्युटी सहित मेडिक्लेम निकालने के एवज में मांगी रिश्वत
उधर बलौदाबाजार जिले के बिलाईगढ़ में लेखापाल (सहायक ग्रेड-02) रतराम बंजारे को ACB की टीम ने 15 हजार रुपए रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। लेखापाल बीईओ कार्यालय में पदस्थ है। पूर्व बीईओ पी. के. शर्मा के बेटे से जीपीएफ, जीआईएस, ग्रेच्युटी और मेडिकल क्लेम निकालने के एवज में 2 लाख 35 हजार रुपए रिश्वत की मांग की थी। बेटे ने एसीबी ( ACB Raid ) से शिकायत की, जिसके बाद छापेमार कार्रवाई कर 15 हजार नगद रिश्वत लेते पकड़ा गया।

दोनों रिश्वतखोर के खिलाफ अपराध दर्ज
एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने दोनों आरोपी के खिलाफ धारा 7 भ्र.नि.अधि. 1988 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया है. जिसने खिलाफ आगे की कार्रवाई जारी है। जांच में मिले तथ्यों के आधार पर ही एसीबी आगे की कार्रवाई करेगी।