श्रीनगर। भारत में दिवाली के मौके पर पाकिस्तान (pak violates ceasefire on diwali) की ओर से सीमा पर नापाक हरकत को अंजाम दिया गया है। पाकिस्तान ने शुक्रवार को एलओसी के पास अलग-अलग स्थानों पर सीजफायर का उल्लंघन किया।
मीडिया रिपोट्र्स के अनुसार, पाकिस्तानी सेना की गोलीबारी में तीन जवान शहीद हो गए जबकि 3 नागरिकों की भी मौत हो गई। भारतीय सेना के अनुसार, कुपवाड़ा के केरन से बारामूला के उरी सेक्टर तक कई जगहों पर पाक की ओर से फायरिंग की गई। इसका भारतीय सेना ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया। बारामूला में भी पाकिस्तान (pak violates ceasefire on diwali) की तरफ से युद्धविराम के उल्लंघन करते हुए फायरिंग की गई। अधिकारियों ने बताया कि उरी सेक्टर के नांबला में तैनात दो सैनिक पाकिस्तान की गोलीबारी में शहीद हो गए।
जबकि हाजी पीर सेक्टर में एक बीएसफ सब-इंसपेक्टर की जान चली गई जबकि एक अन्य जवान घायल है। बीएसएफ के शहीद हुए सब इंस्पेक्टर का नाम राकेश डोभाल है। राकेश उत्तराखंड के ऋषिकेश के गंगानगर के रहने वाले थे। वे बीएसएफ आर्टी रेजिमेंट के सदस्य थे और कॉन्स्टेबल पद पर तैनात थे।
पाक की आक्रामकता में कई नागरिक भी घायल
बारामूला जिले के उड़ी सेक्टर में ही कामलकोटे में दो नागरिकों के मारे जाने की खबर है, जबकि एक महिला हाजी पीर सेक्टर के बालकोटे में मारी गई। अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तान की ओर से दिखाई गई आक्रमकता में कई नागरिक घायल हुए हैं।
जवान के सिर पर लगी थी गोली
बीएसएफ के अनुसार शुक्रवार 12 बजकर 20 मिनट पर दुश्मनों से लोहा लेते हुए राकेश के सिर पर गोली लगी थी। सवा एक बजे उनका निधन हो गया। दूसरी ओर, पुंछ जिले के सवजियान इलाके में भी पाकिस्तान की तरफ से फायरिंग की गई। इसका भी भारतीय सेना मुंहतोड़ जवाब दे रही है।
घुसपैठ नाकाम
रक्षा प्रवक्ता राजेश कालिया ने बताया कि शक्रवार सुबह एलओसी के पास केरन सेक्टर स्थित अग्रिम चौकियों पर संदिग्ध गतिविधि देखी गई। सैन्य टुकडिय़ों ने संदिग्ध घुसपैठ की कोशिश को नाकाम किया। भारतीय सेना ने कहा कि पाकिस्तान की तरफ से बिना किसी कारण केरन सेक्टर पर मोर्टार भी दागे गए।रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि सेना ने एक घुसपैठ की कोशिश नाकाम की जिसके बाद फायरिंग शुरू हो गई। राजेश कालिया ने बताया, ‘भारतीय सेना की तरफ से मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है।
हफ्तेभर में दूसरी बार घुसपैठ की कोशिश नाकाम
एक हफ्ते के अंदर घुसपैठ की यह दूसरी कोशिश थी। इससे पहले 7-8 नवंबर की रात को माछिल सेक्टर में घुसपैठ को नाकाम किया गया। इस दौरान तीन आतंकी भी मार गिराए गए। ऑपरेशन के दौरान कैप्टन और एक बीएसएफ जवान समेत तीन सैनिक शहीद हो गए थे। प्रवक्ता ने बताया, ‘पाकिस्तान की तरफ से आतंकियों के घुसपैठ की सभी कोशिश नाकाम करने केलिए भारतीय सेना पूरी तरह तैयार है।