The duniyadari news। छत्तीसगढ़ में बुधवार से ही मौसम का मिजाज बदला गया है। आसमान में बादल छाए हुए हैं, जिससे ठंड थोड़ी कम हो गई है। ऐसे मेंं सवाल उठ रहा है कि कहीं राज्य में बेमौसम बारिश तो नहीं होगी। बेमौसम बारिश की सर्वाधिक चिंता किसानों को सता रही है। क्योंकि धान कटाई शुरू हो चुकी है।
कुछ किसानों की तो काटी हुई फसल भी खेत में पड़ी है। ऐसे में मौसम केंद्र रायपुर के वैज्ञानिक आरके बैस ने बताया कि दक्षिण पूर्व उत्तर प्रदेश में सिस्टम बना हुआ है जिसके प्रभाव से छत्तीसगढ़ (cg weather) में बादल छाए हुए हैं। इस सिस्टम से बारिश की आशंका तो नहीं है, लेकिन राज्य में एक दो स्थानों पर बूंदा बांदी हो सकती है।
जब तक यह सिस्टम बना रहेगा तब तक बादल छाए रहेंगे। हो सकता है इसमें एक-दो दिन लग जाए और एक दो दिन राज्य में कहीं-कहीं बूंदा-बांदी भी हो। बैसे ने कहा कि बादल छंटने पर ठंड बढ़ेगी। हवाओं का रुख उत्तरी हो जाने से न्यूनतम तापमान मेंं गिरावट आ सकती है।

किसानों को एक-दो दिन सावधानी बरतने की जरूरत
मौसम विभाग की आशंका से किसानों को थोड़ी सावधानी बरतने की जरूरत है। यदि उन्होंंने धान काट रखा है तो उन्हें चाहिए वे इसे समेट ले और अगली कटाई में एक दो दिन का इंतजार कर ले।