नई दिल्ली। CORONA fear: दुनिया भर के देश कोरोना से जूझ रहे हैं और इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए हर संभव कोशिश की जा रही है। भारत में भी कोरोना पर अंकुश लगाने के लिए व्यापक प्रयास किए जा रहे हैं। कोरोना ने हर तरफ दहशत का माहौल बना दिया है। इस बीच कई चौंकाने वाली घटनाएं सामने आ रही हैं।

कोरोना ने महामारी ने लाखों घर तबाह कर दिए हैं। बहुतों ने अपनों को खोया है। कुछ ने कोरोना को मात दी है। ऐसी ही एक त्रासदी अब सामने आ रही है। पूरे परिवार ने कोरोना के डर (CORONA fear) से आत्महत्या कर ली है। चिमुकल्या के साथ माता-पिता ने अपनी जीवन लीला समाप्त करने की घटना प्रकाश में आई है।

आंध्र प्रदेश में एक दिमाग सुन्न करने वाली घटना हुई है। पूरे परिवार ने कोरोना वायरस के डर से आत्महत्या कर ली है यह चौंकाने वाली घटना सामने आई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कुरनूल शहर के वड्डगेरी इलाके में एक परिवार रहता था।

उन्होंने सुसाइड नोट में लिखा था कोरोना के डर से चार लोगों ने जहर खाकर खुदकुशी कर ली है। मृतकों की पहचान प्रताप (42), हेमलता (36), जयंत (17) और रिशिता (14) के रूप में हुई है। प्रताप टीवी मैकेनिक था। जयंत कोर्स कर रहा था और रिशिता सातवीं कक्षा में पढ़ रही थी।

बुधवार की सुबह घर के बाहर कोई सदस्य नजर नहीं आया। साथ ही घर का दरवाजा नहीं खुला। इसने पड़ोसी को थोड़ा संशय में डाल दिया। दरवाजे की घंटी बजाने के बाद भी अंदर से कोई जवाब नहीं आया। इसलिए उसने आखिरकार पुलिस को सूचना दी।

सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस दरवाजा तोड़कर घर में दाखिल हुई। उसी समय उन्हें वहां चार लोगों के शव मिले। पुलिस ने मौके से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है। इसमें उन्होंने खुदकुशी की वजह कोरोना का डर बताया था।

सुसाइड नोट से चौंकाने वाला खुलासा
परिवार ने सुसाइड नोट में कहा कि उनके दोस्त और रिश्तेदारों की मौत कोरोना से हुई है। इसलिए कहा जा रहा है कि वे भी कोरोना से डरे हुए थे। इसी डर से पूरे परिवार ने आत्महत्या कर ली है। पुलिस मामले की आगे की जांच कर रही है। आंध्र प्रदेश में अब तक 18,545,577 कोरोना मरीज मिल चुके हैं। इनमें से 53,880 सक्रिय मरीज हैं। राज्य में कोरोना से 12,416 लोगों की मौत हो चुकी है। देश में कोरोना संकट के बीच कई चौंकाने वाली घटनाएं सामने आ रही हैं।