ग्वालियर। करवा चौथ के दिन पति  का एक्सिडेंट हो गया और दूसरे दिन पति  के साथ पत्नी ने भी अपने प्राण त्याग दिए। दरअसल करवा चौथ (karwa chauth accident) के दिन ग्वालियर के किशोर गर्ग का एक्सिडेंट हो गया था। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था। दूसरे दिन यानी पांच नवंबर को उनकी मौत हो गई।

अंतिम संस्कार के वक्त जब किशोर की पत्नी अंगुरी देवी को उनके अंतिम दर्शन के लिए परिजनों ने लाया तो अंगुरी देवी ने अपने पति के शव के पास बैठकर ही अपने प्राण त्याग दिए। आखिर में परिजन ने दोनों की अंतिम यात्रा भी एकसाथ निकाली। प्राप्त जानकारी के अनुसार किशोर और अंगुरी एक दूसरे से काफी प्रेम करते थे।
बच्चों ने बैंड बाजे के साथ निकाली अंतिम यात्रा
विधि का विधान भी कुछ ऐसा रहा िक दोनों की अंतिम यात्रा भी एकसाथ निकली। किशोर व अंगुरी के तीन बेटों व दो बेटियों ने अपने मां-पिता के इस अटूट प्रेम को यादगार बनाने के लिए उनकी अंतिम यात्रा बैंड बाजे के साथ निकाली। बहरहाल करवा चौथ के दिन साथ मरने की पति पत्नी की इस अनोखी दास्तान ने सभी को आश्चर्यचकित कर दिया।