Tuesday, July 23, 2024
HomeकोरबाKorba: अपनी हठधर्मिता और मजदूर विरोधी नीतियों से बाज आ जाए बालको,...

Korba: अपनी हठधर्मिता और मजदूर विरोधी नीतियों से बाज आ जाए बालको, नहीं तो उग्र आंदोलन किया जाएगा : राधेश्याम

कोरबा। बालको कर्मचारी संघ बीएमएस के तत्वावधान में बुधवार को परसाभांठा में की विशाल आम सभा का आयोजन किया गया। इस दौरान मौजूद रहे भारतीय मजदूर संघ राष्ट्रीय मंत्री राधेश्याम जायसवाल ने चेतावनी दी कि बालको प्रबंधन अपनी हठ धर्मिता और मजदूर विरोधी नीतियों से से बाज आ जाए। बीएमएस के कर्मचारियों को जिस तरीके से बालको प्रबंधन द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा है, आने वाले समय में प्रबंधन को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और उग्र आंदोलन किया जाएगा।

 

यह कार्यक्रम बालको के श्रमिक संगठन बालको कर्मचारी संघ सम्बद्ध भारतीय मजदूर संघ द्वारा शाम 5 बजे बालको परसाभांठा में रखा गया था। आम सभा में भारतीय मजदूर संघ के राष्ट्रीय मंत्री राधेश्याम जयसवाल, बीएमएस एनटीपीसी के राष्ट्रीय अध्य्क्ष सुरेन्द्र राठौर, विभाग प्रमुख डी वेंकट राव जिला कार्यकारिणी से जिला अध्यक्ष अजय मिश्रा , जिला मंत्री नवरतन बरेठ, एनटीपीसी महासचिव महेन्द्र ठाकुर, एसईसीएल संयुक्त महामंत्री रंजय सिंह एवं पदाधिकारीगण उपस्थित रहे। बीएमएस के राष्ट्रीय मंत्री राधेश्याम जायसवाल ने सख्त लहजे में बालको प्रबंधन को चेताया कि प्रबंधन अपनी मजदूर विरोधी हठधर्मिता से बाज आ जाए। नहीं तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि बीएमएस के कर्मचारियों को जिस तरीके से बालको प्रबंधन प्रताड़ित कर रहा है। आने वाले समय में प्रबंधन को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। इसके अलावा संगठन विशेष इंटक के साथ मिलकर बालको के मजदूरों का जिस तरह से मेडिकल के नाम पर,प्रमोशन के नाम पर, अन्य यूनियन में जाने पर खुलेआम प्रताड़ित कर रहा है, उसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। प्रबंधन भूल गया है कि राज्य में सरकार परिवर्तन होने के बाद सभी उद्योगों में सभी श्रमिक संघों को बराबर का अधिकार देते हुए औद्योगिक विवाद अधिनियम 1947 लागू किया जा चुका है। जिससे सभी संघों और मजदूरों को समानता का अधिकार मिल गया है। फिर भी बालको प्रबंधन अपने अड़ियल रवैये से बाज नहीं आ रहा है। उसका वर्तमान उदाहरण कर्मचारियों से किया गया 11वां वेतन समझौता है। प्रबंधन इसके जरिए इंटक के साथ मिलकर प्रबंधन मजदूर विरोधी नियमों को लाने के साथ ही आर्थिक रूप से भारी नुकसान करने की ओर अग्रसर है। हमारा संगठन बीएमएस इसका पुरजोर विरोध करती है। इसके लिए जरूरत पड़ी तो सड़क की लड़ाई भी लड़ी जाएगी। बालको कर्मचारी संघ के महासचिव माखन लाल वर्मा ने कहा कि हम मजदूरों के अधिकार को लेकर पूर्ण रूप से सजग हैं। किसी भी तरह से कर्मचारियों पर किसी भी तरीके का अन्याय, षड्यंत्र बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अंत में बालको कर्मचारी संघ (बीएमएस) के अध्यक्ष शरद नायर ने कहा कि कर्मचारियों के हित में पूर्णतः कटिबद्ध होकर कार्य करते रहेंगे। उनके संबोधन के साथ ही आमसभा का समापन हुआ।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments