रायपुर, । वेदांता समूह के सामुदायिक विकास कार्यक्रम के अंतर्गत संचालित फ्लैगशिप परियोजना ‘नंद घर’ के अंतर्गत दुर्ग जिले के पाटन में आज प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने 101 नंद घरों का उद्घाटन किया। वेदांता समूह की इस महत्वपूर्ण परियोजना के अंतर्गत देश के विभिन्न राज्यों में पहले से संचालित आंगनबाड़ियों को अत्याधुनिक स्वरूप दिया जा रहा है। वर्ष 2015 में नंद घर परियोजना की शुरूआत की गई जिसके अंतर्गत देश में पहले ही 1700 नंद घर प्रारंभ हो चुके हैं। पूरे देश में लगभग 800 करोड़ रुपए के निवेश से 4000 नंद घर स्थापित करने की योजना है। वेदांता समूह छत्तीसगढ़ के कोरबा में भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) के जरिए राज्य और देश के औद्योगिक विकास में महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है।


वेदांता समूह और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा संयुक्त रूप से संचालित परियोजना का उद्देश्य भारत के ग्रामीण पिछड़े इलाकों को देश के विकास की मुख्यधारा से जोड़ना है। 13.7 लाख आंगनवाड़ियों के 8.5 करोड़ बच्चों और 2 करोड़ महिलाओं के जीवन को बदलने की दृष्टि वेदांता द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर संचालित परियोजना के अंतर्गत बाल स्वास्थ्य एवं पोषण में सुधार, बच्चों को मनोरंजनपूर्ण तरीके से शिक्षा प्रदान करने और जमीनी स्तर पर महिलाओं के सशक्तिरण की दिशा में उत्कृष्ट कार्य किए जा रहे हैं।