Tuesday, July 23, 2024
Homeदेशमेनका पर करम, वरुण पर 'सितम', संबित पात्रा की भी लग गई...

मेनका पर करम, वरुण पर ‘सितम’, संबित पात्रा की भी लग गई लॉटरी, देखिए BJP की पांचवी लिस्ट में चौंकाने वाले नाम

दिल्ली। बीजेपी ने लोकसभा चुनाव 2024 के लिए अपनी पांचवी लिस्ट रविवार को जारी कर दी. इसमें 111 उम्मीदवारों को चुनावी दंगल में उतारा गया है. बीजेपी ने कई हाई प्रोफाइल चेहरों के टिकट काटे हैं लेकिन कई नामी हस्तियों को टिकट देकर चौंकाया भी है. बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत को हिमाचल प्रदेश के मंडी से टिकट दिया गया है. जबकि रामायण सीरियल में श्रीराम का किरदार निभाने वाले अरुण गोविल को मेरठ से उतारा गया है.

जबकि सुल्तानपुर से मेनका गांधी टिकट बचाने में कामयाब रहीं लेकिन उनके बेटे और पीलीभीत से सांसद वरुण गांधी को इस बार बीजेपी ने टिकट नहीं दिया है. उनकी जगह जितिन प्रसाद चुनाव लड़ेंगे. वहीं बीजेपी ने स्टार प्रवक्ता संबित पात्रा को एक बार फिर ओडिशा के पुरी से मैदान में उतारा है. 2019 के लोकसभा चुनाव में वह जीत दर्ज नहीं कर पाए थे.

इन सांसदों का कटा टिकट

बीजेपी ने कानपुर से सत्यदेव पचौरी का टिकट काट दिया है. जबकि मेरठ से राजेंद्र अग्रवाल को भी टिकट नहीं मिला है. उनकी जगह अरुण गोविल को मैदान में उतारा है. इसके अलावा गाजियाबाद से जनरल वीके सिंह को टिकट नहीं दिया है. उनकी जगह अतुल गर्ग चुनाव लड़ेंगे. बदायूं से संघमित्रा मौर्य को भी टिकट नहीं मिला है. झारखंड में भी 3 सांसदों का पार्टी ने टिकट काट दिया है, जिनमें चतरा से सुनील कुमार सिंह, दुमका से सुनील सोरेन और धनबाद से पीएन सिंह शामिल हैं. वहीं बिहार में भी तीन सांसदों को इस बार पार्टी ने टिकट नहीं दिया है. ये हैं- अश्विनी चौबे, छेदी पासवान और अजय निषाद. छेदी पासवान की जगह बीजेपी ने शिवेश राम पर दांव खेला है. हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा से किशन कपूर को भी बीजेपी ने टिकट नहीं दिया है.

अगर बड़े चेहरों की बात करें तो कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आए नवीन जिंदल को बीजेपी ने कुरुक्षेत्र से मैदान में उतारा है. उजियारपुर से नित्यानंद राय चुनावी दंगल में उतरेंगे. बेगूसराय से गिरिराज सिंह, पटना साहिब से रविशंकर प्रसाद, मंडी से कंगना रनौत, दुमका से सीता सोरेन, धर्मेंद्र प्रधान को संभलपुर से उतारा गया है. वहीं कलकत्ता हाई कोर्ट से इस्तीफा देने वाले जस्टिस अभिजीत गंगोपाध्याय को तमलुक से टिकट दिया गया है. दिलीप घोष को बर्दमान-दुर्गापुर से टिकट दिया गया है.

इन सांसदों का कटा टिकट

बीजेपी ने कानपुर से सत्यदेव पचौरी का टिकट काट दिया है. जबकि मेरठ से राजेंद्र अग्रवाल को भी टिकट नहीं मिला है. उनकी जगह अरुण गोविल को मैदान में उतारा है. इसके अलावा गाजियाबाद से जनरल वीके सिंह को टिकट नहीं दिया है. उनकी जगह अतुल गर्ग चुनाव लड़ेंगे. बदायूं से संघमित्रा मौर्य को भी टिकट नहीं मिला है. झारखंड में भी 3 सांसदों का पार्टी ने टिकट काट दिया है, जिनमें चतरा से सुनील कुमार सिंह, दुमका से सुनील सोरेन और धनबाद से पीएन सिंह शामिल हैं. वहीं बिहार में भी तीन सांसदों को इस बार पार्टी ने टिकट नहीं दिया है. ये हैं- अश्विनी चौबे, छेदी पासवान और अजय निषाद. छेदी पासवान की जगह बीजेपी ने शिवेश राम पर दांव खेला है. हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा से किशन कपूर को भी बीजेपी ने टिकट नहीं दिया है.

अगर बड़े चेहरों की बात करें तो कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आए नवीन जिंदल को बीजेपी ने कुरुक्षेत्र से मैदान में उतारा है. उजियारपुर से नित्यानंद राय चुनावी दंगल में उतरेंगे. बेगूसराय से गिरिराज सिंह, पटना साहिब से रविशंकर प्रसाद, मंडी से कंगना रनौत, दुमका से सीता सोरेन, धर्मेंद्र प्रधान को संभलपुर से उतारा गया है. वहीं कलकत्ता हाई कोर्ट से इस्तीफा देने वाले जस्टिस अभिजीत गंगोपाध्याय को तमलुक से टिकट दिया गया है. दिलीप घोष को बर्दमान-दुर्गापुर से टिकट दिया गया है.

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments