Saturday, April 13, 2024
Homeदेशयहां फटाफट हो रही है लड़कियों की शादी, हैरान करने वाली है...

यहां फटाफट हो रही है लड़कियों की शादी, हैरान करने वाली है वजह

नई दिल्ली: शादियों में लड़कियों की उम्र बढ़ाने वाला कानून (Girl Marriage Age Law) अभी पास नहीं हुआ है, लेकिन देश के कई शहरों में मुस्लिम परिवारों में चिंता बढ़ गई है. कानून लागू होने से पहले ही हैदराबाद में जल्द से जल्द लड़कियों की शादी कराने की होड़ मची है. मां-बाप अपनी 18 साल की बेटियों के निकाह में देर नहीं करना चाहते. उन्हें डर है कि कहीं ऐसा न हो कि नया कानून लागू हो जाए और उनकी बेटियों को 18 के बजाए 21 साल की उम्र तक इंतज़ार करना पड़े.

सुधार लागू करना आसान नहीं
एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में मुस्लिम समुदाय की 15 से 18 साल की 65 लाख लड़कियां हैं. ये संख्या कम और ज्यादा भी हो सकती है. ऐसा इसलिए क्योंकि इसके बारे में कोई सही आंकड़ा मौजूद नहीं है. हालांकि ये साफ है कि भारत में किसी भी सुधार को लागू करना आसान नहीं है और ये जरूरत से ज़्यादा लोकतंत्र के लक्षण हैं.

नये कानून के आने के बाद सभी कानूनों में संशोधन करना होगा, जिसके बाद लड़कियों की शादी की उम्र सभी धर्म और संप्रदायों में 18 से बढ़कर 21 साल हो जाएगी. जैसे स्पेशल मैरेज एक्ट 1954 और हिंदू मैरेज एक्ट 1955 में अभी शादी के लिए लड़कियों की उम्र 18 साल है, जिसे बदलकर 21 साल करना होगा.

कानूनों में करना होगा बदलाव
इसके अलावा बाल विवाह निषेध कानून 2006 में भी बदलाव करना होगा, क्योंकि इसमें भी लड़कियों की शादी की उम्र अभी 18 साल ही है. मुस्लिम पर्सनल लॉ में लड़कियों की शादी की उम्र 15 साल से मानी जाती है. भारत सरकार अपने कानूनों में तो बदलाव कर सकती है. लेकिन मुस्लिम समुदाय पर भी ये कानून लागू हो, ऐसा करना आसान नहीं होगा.
इसके लिए भारत को एक देश, एक कानून के सिद्धांत यानी Uniform Civik Code को अपनाना होगा. हालांकि हमारे देश के बहुत सारे लोगों को भरोसा है कि सरकार ऐसा करेगी और मुस्लिम समुदाय की लड़कियों की शादी की उम्र भी 21 साल हो जाएगी.

मुस्लिम बच्चियों के निकाह में आई तेजी
केंद्र सरकार ने जब से लड़कियों की शादी की उम्र बढ़ाने का कानून लाने की तैयारी की है, तभी से तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में मुस्लिम लड़कियों के धड़ाधड़ निकाह हो रहे हैं. नये कानून का खौफ इतना है कि मां-बाप अपनी बेटियों की फटाफट शादियां निपटा रहे हैं. इनमें वो शादियां भी शामिल हैं. जिनका निकाह कई महीनों बाद होने वाला था.

हैदराबाद की केस स्टडी
हैदराबाद शहर के रहने वाले हैदर जाफरी के बड़े भाई की 18 साल की बेटी की भी हाल ही में शादी हुई है. हैदराबाद के ही रहने वाले आलिम कादरी ने भी अपनी बहन का निकाह तय वक्त से पहले ही कर दिया. दरअसल इन परिवारों को डर है कि अगर इन्होंने अभी अपनी बहन-बेटियों की शादी नहीं की तो नया कानून इन पर भी लागू होगा. इस सूरत में उन्हें भी बेटी के 21 साल का होने तक रुकना पड़ेगा. ऐसे में कई परिवार फटाफट निकाह निपटा रहे हैं. ज़ी मीडिया ने इन शादियों की गहराई और हकीकत को समझने की कोशिश की तो हैरान करने वाली एक तस्वीर सामने आई.

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments