Tuesday, April 23, 2024
Homeछत्तीसगढ़सीजी क्राइम: यूट्यूब देख टीचर की बेटी ने की ठगी, मजदूर कार्ड...

सीजी क्राइम: यूट्यूब देख टीचर की बेटी ने की ठगी, मजदूर कार्ड बनवाने झांसा देकर लिए फिंगर प्रिंट, फिर खाते से निकाले लाखों रुपए

जांजगीर/रायगढ़। रायगढ़ जिले में चक्रधरनगर थाना क्षेत्र में यूट्यूब देख ठगी का मामला सामने आया है। जहां स्कूल टीचर की बेटी ने पहले यूट्यूब से बॉयोमीट्रिक डिवाइस पर फिंगर प्रिंट लेना सीखा। फिर अपने बॉयफ्रेंड के साथ मिलकर लोगों को मजदूर कार्ड बनवाने का झांसा देकर अलग-अलग लोगों के खाते से करीब 3 लाख रुपए पार कर दिए और भाग निकले। इस मामले में जब शिकायत हुई तो पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।

ऐसे लोगों को दिया झांसा

जानकारी के मुताबिक, गोवर्धनपुर के कियोस्क शाखा में कई लोग पैसे निकालने के लिए आते थे। इन्हीं में कई लोगों को मजदूर कार्ड बनवाने की जरूरत थी। इसी बात का फायदा उठाकर दिसंबर महीने में युवक-युवती ने उन्हें झांसे में लिया था।

दोनों ने मिलकर दावा किया हम आसानी से आपका मजदूर कार्ड बनवा देंगे। मगर उसके लिए आपको कुछ दस्तावेज देना होंगे। जैसे- आधार कार्ड, पासबुक। साथ ही आपको फिंगर प्रिंट भी देना होंगे। यह सुनकर लोग उनके झांसे में आ गए थे और उन्होंने अपने दस्तावेज के साथ फिंगर प्रिंट (बॉयोमीट्रिक मशीन पर) भी दे दिया था।

पैसे निकालने गए तो पता चला

जानकारी के अनुसार ठगी के शिकार हुए लोग जब अपने खाते में पैसा निकालने पहुंचे तो दोमनिका कुजूर के खाते से 20 हजार, रत्ना डनसेना के खाते से 1,19,300 रुपए और अंजली के खाते से 1,44,859 रुपए गायब हो चुके थे। तब जाकर इन्हें अहसास हुआ कि इनके साथ ठगी हुई है। इसके बाद इन्होंने मिलकर कुछ दिन पहले ही पुलिस से शिकायत की थी।

केवड़ाबाड़ी बस स्टैंड से गिरफ्तार

शिकायत के बाद पुलिस मामले की जांच में जुटी थी। पुलिस ने पीड़ितों से आरोपियों के बारे में पूछताछ की, उनकी पहचान जानी, फिर उनके ठिकानों में दबिश भी दी। लेकिन वो दोनों गायब हो चुके थे। इस बीच पुलिस को पता चला कि दोनों केवड़ाबाड़ी बस स्टैंड के पास हैं। जिसके बाद पुलिस ने मौके पर दबिश दी और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

ग्लू और फेविकोल लगाकर लेते थे फिंगर प्रिंट

आरोपियों ने बताया कि उन्होंने लोगों से दस्तावेज और फिंगर प्रिंट बॉयोमीट्रिक डिवाइस पर ग्लू/फेवीकोल लगाकर फिंगर प्रिंट लेते थे। बाद में उस फिंगर प्रिंट को अपने अंगूठे पर लगाकर कियोस्क शाखा से पैसे निकाल लिया करते थे। अब पुलिस ने दोनों से एक लाख 66 हजार रुपए नकद बरामद किया है। साथ ही पैन कार्ड, एटीएम कार्ड और मोबाइल जब्त किया गया है। पुलिस ने बताया कि दोनों के खिलाफ जांजगीर के डभरा थाने में भी इसी तरह से धोखाधड़ी करने की शिकायत दर्ज है। पुलिस और थानों से संपर्क कर जानकारी जुटा रही है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments