बलरामपुर। देश में कोरोना और ओमिक्रॉन के बढ़ते संक्रमण के बीच 15 से 18 साल के किशोरों का वैक्सीनेशन शुरू हो चुका है। इसी बीच आज छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले के वाड्रफनगर में चल रहे टीकाकरण के दौरान कोरोना वैक्सीन लगाने के बाद 3 छात्राएं बेहोश हो गई है। उन्हें तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया गया। जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।

बताया जा रहा है कि तीनों जिले के पशुपतिपुर हाई स्कूल की छात्राएं हैं। फिलहाल डॉक्टरों की निगरानी में उनका इलाज चल रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने इसकी जानकारी उच्च अधिकारियों को दी है,जिसके बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया। इधर स्वास्थ्य विभाग छात्राओं के बेहोशी के पीछे का कारण जानने में जुटी है। परिजनों के मुताबिक वैक्सीन लगने के बाद तीनों छात्राओं को सांस लेने में दिक्कत होने लगी और एक-एक करके तीनों बेहोश हो गईं।

बता दें कि छत्तीसगढ़ में 15 से 18 वर्ष के किशोरों का टीकाकरण शुरू होने के पहले दो दिनों में ही प्रदेश भर में इस आयु वर्ग के कुल लक्ष्य के 20 प्रतिशत से अधिक को टीका लगाया जा चुका है। शुरूआती दो दिनों में ही मुंगेली जिले ने अपने कुल लक्ष्य के 56 प्रतिशत, धमतरी ने 50 प्रतिशत, कोंडागांव ने 43 प्रतिशत, कांकेर और गरियाबंद ने 38-38 प्रतिशत, राजनांदगांव ने 29 प्रतिशत, बालोद और दुर्ग ने 28-28 प्रतिशत, महासमुंद ने 26 प्रतिशत तथा बलौदाबाजार, कोरिया और सूरजपुर ने 21-21 प्रतिशत किशोरों को कोरोना से बचाव के लिए पहला टीका लगा चुके हैं। 3 जनवरी और 4 जनवरी को मिलाकर प्रदेश भर में तीन लाख 35 हजार 653 किशोरों का टीकाकरण किया जा चुका है।

  • RO12618-2