Wednesday, May 22, 2024
Homeछत्तीसगढ़Chhattisgarh Liquor Scam: स्पेशल कोर्ट ने बढ़ाई आबकारी विभाग के विशेष सचिव...

Chhattisgarh Liquor Scam: स्पेशल कोर्ट ने बढ़ाई आबकारी विभाग के विशेष सचिव अरुणपति त्रिपाठी और शराब कारोबारी त्रिलोक सिंह ढिल्लन की रिमांड

रायपुर। Chhattisgarh Liquor Scam:
छत्तीसगढ़ में 2000 करोड़ के कथित शराब घोटाले के मास्टरमाइंड इंडियन टेलीकॉम सर्विस के अधिकारी व आबकारी विभाग के विशेष सचिव अरुणपति त्रिपाठी और शराब व होटल कारोबारी त्रिलोक सिंह ढिल्लन उर्फ पप्पू ढिल्लन की रिमांड स्पेशल कोर्ट ने आगे बढ़ा दी है।

Chhattisgarh Liquor Scam: मंगलवार को स्पेशल जज अजय सिंह राजपूत के कोर्ट में पेश किया गया। बहस के बाद स्पेशल कोर्ट ने अरुणपति (त्रिपाठी की तीन और ढिल्लन की दो दिन की रिमांड मंजूर कर दी है।

Chhattisgarh Liquor Scam: कोर्ट में ईडी की ओर से आगे की जांच और पूछताछ के लिए दोनों आरोपियों को रिमांड पर देने की मांग की गई। दोनों आरोपियों की ओर से वकील ने इसका विरोध किया। हालांकि कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद रिमांड मंजूर कर लिया।

0.Chhattisgarh Liquor Scam: इन अफसरों और कारोबारियों की संपत्ति की जा चुकी है अटैच

बता दें कि एक दिन पहले ही ईडी ने शराब घोटाले में संलिप्तता के आरोप में आईएएस अनिल टुटेजा, कारोबारी अनवर ढेबर, एपी त्रिपाठी, अरविंद सिंह, विकास अग्रवाल आदि की करीब 121.87 करोड़ की संपत्ति अटैच की है।

Chhattisgarh Liquor Scam: ईडी की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक आईएएस टुटेजा की 14 संपत्तियां हैं, जिसकी कीमत 8.83 करोड़ बताई गई है। इसी तरह अनवर ढेबर की 69 संपत्तियां अटैच की गई हैं। इन संपत्तियों की कीमत 98.78 करोड़ बताई गई हैं।

Chhattisgarh Liquor Scam: ईडी ने अपने अधिकृत ट्विटर हैंडल पर राजधानी रायपुर स्थित वेलिंगटन होटल की तस्वीर भी जारी की है। अन्य आरोपियों में विकास अग्रवाल की 1.54 करोड़ कीमत की तीन और अरविंद सिंह की 11.35 करोड़ कीमत की 32 संपत्तियां अटैच की गई हैं। अरुण पति त्रिपाठी की 1.35 करोड़ कीमत की एक संपत्ति सहित अब तक 180 करोड़ की संपत्तियां अटैच की जा चुकी हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments