Thursday, April 25, 2024
HomeकोरबाKorba : हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी की दुर्दशा से दुखी रहवासियों की सुध,...

Korba : हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी की दुर्दशा से दुखी रहवासियों की सुध, सुविधाएं विकसित करने महापौर ने लिखा ईई को पत्र, मांगे निगम के हिस्से के 7.75 करोड़

कोरबा। गृह निर्माण मंडल की कॉलोनियों में रह रहे नागरिक बोर्ड की अनदेखी का खामियाजा भुगतने मजबूर हैं। उन्हें सड़क-बिजली, नाली व साफ-सफाई के साथ कई बार पीने के पानी की किल्लत से भी जूझना पड़ जाता है। इन कॉलोनियों की दुर्दशा से अवगत कराते हुए यहां के रहवासियों ने अपनी पीड़ा राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल व नगर निगम कोरबा के महापौर राजकिशोर प्रसाद के समक्ष बयां की थी। उनकी परेशानी को संजीदगी से लेते हुए दशा में सुधार की कवायद शुरू कर दी गई और सर्वप्रथम इन कॉलोनियों का हेंडओवर लेते हुए नगर निगम के अधिकार क्षेत्र में लाया गया। अब कॉलोनीवासियों की अपेक्षा और सुविधा के पैमानों के अनुरूप संसाधन विकसित करने हाउसिंग बोर्ड से 7.75 करोड़ की मांग की है। यह राशि कॉलोनियों के हस्तांतरण के पूर्व ही निगम को दे दिया जाना था, जिसका स्मरण कराते हुए महापौर श्री प्रसाद ने छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के कार्यपालन अभियंता को पत्र लिखा है।

नगर पालिक निगम कोरबा महापौर राजकिशोर प्रसाद ने अटल आवास योजना के तहत बने मकानों के मरम्मत व रखरखाव के लिए डीएमएफ मद से राशि उपलब्ध कराने कोरबा कलेक्टर को पत्र लिखने के बाद, अब हाउसिंग बोर्ड के कॉलोनियों में आवश्यक मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के कार्यपालन अभियंता को पत्र लिख 7.75 करोड़ की मांग पत्र प्रेषित किया है। महापौर राजकिशोर प्रसाद ने बताया कोरबा क्षेत्र अंतर्गत गोकुल नगर व खरमोरा में हाउसिंग बोर्ड की दो-दो कालोनियां हैं। गोकुल नगर की एक कॉलोनी में 84 और दूसरे में 58 मकान बने हैं। वहीं खरमोरा की एक कॉलोनी में 192 और दूसरे में 182 मकानों का निर्माण कराकर हितग्राहियों को उचित मूल्य में दिया गया है। इसी प्रकार शहर में स्थापित सेमीपाली में 150, बरबसपुर में 168, रामपुर में 512 और दादर में 160 मकान निर्मित कराए गए हैं।
महापौर ने बताया कि शहर में स्थापित हाउसिंग बोर्ड के इन आठ कालोनियों में हाउसिंग बोर्ड के द्वारा साफ-सफाई सहित अन्य आवश्यक मूलभूत सुविधा के लिए पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित नहीं की जाती, जिससे इन कॉलोनियों के रहवासी समय-समय पर उनसे तथा राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल से मिलकर सार्थक पहल करने की मांग करते रहे हैं। जिसे राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने संज्ञान में लिया और हाउसिंग बोर्ड के इन सभी आठ कॉलोनियों को नगर निगम में हस्तान्तरण करने नगरीय प्रशासन व छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के मध्य वार्ता स्थापित कराते हुए हाउसिंग बोर्ड के सभी कॉलोनियो को नगर पालिक निगम में वर्ष 2022 में हस्तान्तरण कराया।
बाक्स
*हस्तांतरण पूर्व ही कर देना था राशि का भुगतान*
महापौर राजकिशोर प्रसाद ने बताया हस्तान्तरण से पहले नगर निगम एवं गृह निर्माण मण्डल के अधिकारियों के साथ संयुक्त सर्वेक्षण कराया गया और इन आठ कॉलोनियों में आवश्यक मूलभूत सुविधाएंजैसे सड़क, पानी लाइन, बिजली, सामुदायिक भवन आदि की सुविधा प्रदान करने रुपए 7.75 करोड़ का प्राक्कलन तैयार किया गया था, जिसे हस्तान्तरण के पूर्व ही भुगतान किया जाना था। पर हस्तान्तरण होने के बाद भी भुगतान राशि अप्राप्त है। महापौर राजकिशोर प्रसाद ने गृह निर्माण मण्डल के कार्यपालन अभियंता के पत्र प्रेषित कर निर्धारित राशि 7.75 करोड़ के भुगतान को शीघ्र की निगम को उपलब्ध कराने कहा है। जिला कांग्रेस कमेटी कोरबा के प्रवक्ता सुरेश अग्रवाल ने बताया कि नगर निगम के द्वारा निर्माण कराए गए कॉलोनियों में साफ-सफाई सहित आवश्यक मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराए जाते हैं। उसी प्रकार अन्य कॉलोनियों में भी सुविधाएं उपलब्ध हो ऐसा हमारा प्रयास रहेगा।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments