Tuesday, July 23, 2024
Homeकोरबाकोरबा पुलिस को मिली बड़ी सफलता: महादेव सट्टा ऐप के 7 आरोपी...

कोरबा पुलिस को मिली बड़ी सफलता: महादेव सट्टा ऐप के 7 आरोपी गोवा से गिरफ्तार, 84 खातों में मिला 100 करोड़ से अधिक का लेनदेन

कोरबा। छत्तीसगढ़ के बहुचर्चित महादेव सट्टा ऐप के 7 आरोपियों को कोरबा पुलिस ने गोवा सहित अलग अलग राज्यों से गिरफ्तार किया है। मामले की जांच के लिए पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यूबीएस चौहान द्वारा नगर पुलिस अधीक्षक दर्री रविंद्र कुमार मीना एवं कोरबा पुलिस के समस्त पुलिस राजपत्रित अफसर और थाना प्रभारियों सहित प्रभारी सायबर सेल को आईपीएल क्रिकेट मैच 2024 के सीजन में क्रिकेट मैच के दौरान सट्टा खिलाने वालों की गिरफ्तारी के निर्देश दिए गए थे।

जिसके बाद थाना कोतवाली के अपराध के बाद जिले एण्टी सायबर सेल तथा थाना कोतवाली पुलिस की संयुक्त टीम ने मामले की जांच शुरु की। जांच के दौरान पुलिस को सूचना मिली थी कि डीडीएम स्कूल के पास सार्वजनिक स्थान पर प्रतीक विधवानी लोगों से ऑनलाइन आईपीएल में सट्टे का दावा लगाने के लिए पैसा लेकर उनके दाव लगवा रहा है।

पुलिस टीम के द्वारा उक्त स्थान पर पहुंचकर घेराबंदी कर आरोपी प्रतीक विधवानी को हिरासत में उसके कब्जे से मोबाइल फोन मिला आरोपी द्वारा अवैध रूप से मोबाइल फोन के माध्यम से ऑनलाइन आईपीएल में सट्टा खेलने की जानकारी हासिल की। जांच में आरोपी के द्वारा कई अलग-अलग बैंक खातों में लगभग 17,00,000 करोड रुपए का ट्रांजैक्शन मिला। गिरफ्तार सटोरियों से पूछताछ एवं ऑर्गनाईजेशनल इनपुट उनके अन्य साथी गोवा में बैठकर महादेव एप पैनल के माध्यम से सट्टा संचालित करने का क्लू सामने आया।

जिसके बाद नगर पुलिस अधीक्षक दर्री रविंद्र कुमार मीना के नेतृत्व में टीम का बनाकर गोवा रवाना किया गया। टीम के सदस्यों द्वारा गोवा पहुंच कर सटोरियों की पतासाजी करते हुए सटोरियों को लोकेट किया गया जो कि गोवा के जयराम नगर उनिया सण्डेंस बिल्डिंग के पास एक अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर C 406 में रहकर सट्टा खिला रहे थे।

 

टीम के सदस्यों द्वारा उसी अपार्टमेंट की रेकी कर रहे थे तथा प्रत्येक व्यक्ति के बारे में जानकारी प्राप्त कर रहे थे पूरे लोगों की उपस्थिति होते ही फ्लैट में रेड कार्यवाही किया गया। रेड कार्यवाही के दौरान फ्लैट में कुल 04 व्यक्ति उपस्थित थे, जो लैपटॉप एवं मोबाईल फोन से सेटअप तैयार कर ऑनलाईन सट्टा संचालित कर रहे थे।

सटोरियों से कडाई से पूछताछ करने पर उनके द्वारा आईपीएल क्रिकेट मैच के दौरान महादेव M-100 आईडी पैनल के माध्यम से ऑन लाईन सट्टा का संचालन स्वीकार किया गया। उनके निशानदेही पर एक अन्य गिरोह जयराम नगर एमवव्हीआर बिल्डिंग के अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर B- 106 से कुल 03 सटोरियों को पकड़ा गया। आरोपियों के कब्जे से सट्टा संचालन में प्रयुक्त 13 नग लैपटॉप, 48 नग मोबाईल फोन, बैंकों के पास बुक, 14 नग विभिन्न बैंकों के चेक एवं 40 नग एटीएम कार्ड जप्त किया गया।

0. 84 खातों में मिला 100 करोड़ से अधिक का लेनदेन

आन लाइन आईपीएल सट्टा के बड़े रैकेट का खुलासा होने के बाद आरोपियों के पास मिले बैंक खातों को सील करने की कार्यवाही की जा रही हैं। जांच के दौरान अलग-अलग बैंकों के कुल 84 खातों को होल्ड/फिज कराया गया। उन बैंक खातों में लगभग 100 करोड़ से अधिक का लेनदेन होना पाया गया है। प्राप्त बैंक खातों को साइबर सेल के माध्यम से डेविट फ्रिज कराया गया जिन बैंक खातों मे लगभग 30 लॉख रुपए होल्ड कराया गया है।

गिरफ्तार आरोपियों में प्रतीक विधवानी निवासी डीडीएम रोड कोरबा, मनीष उदाषी पिता स्व. अमरलाल उदाषी उम्र 36 साल निवासी कटोरा तालाब गली नंबर 3 थाना सिविल लाइन रायपुर, सौरभ नरेश मनुज निवासी दयाल नगर सिंधी मोहल्ला जिला वर्धा महाराष्ट्र, मधुर सेवल वलेचा, निवासी महादेव घाट रोड सत्य विहार कॉलोनी रायपुर, नारायण कुमार निषाद पिता निवासी पार्वती नगर गांधीनगर मुर्रा भट्टी थाना गुढ़ियारी, कुलदीप सिंह निवासी ग्राम बहू थाना व पोस्ट भट्टू जिला फतेहबाद हरियाणा, टिकेंद्र मांडवी निवासी पाटन जिला दुर्ग, दिनेश दीलीप वासवानी निवासी जरी पटका जिला नागपुर महाराष्ट्र शामिल हैं। जिन खातेदारों के नाम से बैंक खाते मिले हैं उनमें विजय धारी निवासी पुरानी बस्ती धनवार पारा कोरबा, आदित्य प्रसाद खैरवार निवासी सलियाभाठा करतला जिला कोरबा, मुन्ना खान सीतामणी कोरबा और मनीष पाहुजा, निवासी शांतिनगर मुड़ापार कोरबा शामिल हैं।

कार्यवाही में नगर पुलिस अधीक्षक दर्री रविंद्र कुमार मीना, थाना कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मोतीलाल पटेल, सायबर सेल से प्रभारी सउनि. अजय सोनवानी, लक्ष्मी कुर्रे, प्र. आर. गुनाराम सिन्हा, चंद्रशेखर पांडे, राजेश कुमार, आर. प्रशांत सिंह, रवि चौबे विरकेश्वर प्रताप सिंह, डेमन ओगरे, रितेश शर्मा आलोक टोप्पो, सुशील यादव, म.आर. रेनू टोप्पो की महत्वपूर्ण भूमिका रहीं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments