Tuesday, February 27, 2024
HomeBreakingकेंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह और दिग्विजय का जुबानी जंग..बोले कांग्रेस हिन्दू विरोधी...

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह और दिग्विजय का जुबानी जंग..बोले कांग्रेस हिन्दू विरोधी और…

रायपुर। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह शनिवार को रायपुर पहुंचे। वे पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मिलने के लिए आए हैं। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनो बघेल के पिता का निधन हो गया। दिग्विजय सिंह उनसे मिलकर संवेदना व्यक्त करने के लिए पहुंचे हैं। उधर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह भी रायपुर में हैं। यहां पहुंचते ही उन्होंने राम मंदिर के मसले पर कांग्रेस पर बड़ा हमला किया है। उन्होने कांग्रेस को हिंदू विरोधी कहा था। उन्होंने कहा था कि, हिंदू विरोधी होने के कारण ही कांग्रेसी मंदिर नहीं जाएंगे। गिरिराज सिंह के उक्त बयान पर पूर्व CM दिग्विजय सिंह से प्रतिक्रिया चाहने पर उन्होंने कहा- हमें गिरिराज सिंह से प्रमाण पत्र की जरूरत नहीं है। गिरिराज सिंह को शंकराचार्य से प्रमाण पत्र लेना चाहिए।

मंदिरों के चढ़ावे पर कब्जा चाहती है भाजपा

दिग्विजय सिंह ने कहा कि, BJP और VHP धर्म को नष्ट करने में लगी हैं। BJP मठ-मंदिरों की जमीन पर कब्जा करना चाहती है। दिग्विजय सिंह यही नहीं रुके, वे बोले कि, BJP मंदिरों के चढ़ावे तक पर कब्जा चाहती है। उन्होंने कहा कि, निर्माणाधीन मंदिर में कभी प्राण-प्रतिष्ठा नहीं होती। शंकराचार्य ने भी कहा है कि, यह शास्त्र के विरुद्ध काम हो रहा है। दिग्विजय ने सवाल किया कि, क्या हम चंपत राय को गुरु मानें, जो चंदे का पैसा खा गए।

गिरिराज बोले-कांग्रेस हिंदू विरोधी

इससे पहले, केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा था कि, राम मंदिर ट्रस्ट ने सोनिया गांधी और मल्लिकार्जुन खड़गे को आमंत्रण भेजा। लेकिन वे अयोध्या नहीं जा रहे हैं, क्योंकि वे हिंदू विरोधी हैं। गिरिराज सिंह ने कहा कि, आज से नहीं बरसों से कांग्रेस हिंदू विरोधी है। सोमनाथ मंदिर के पुनरुद्धार में नेहरू ने राजेंद्र बाबू को जाने से रोका था, नेहरू कहते थे कि मैं बाय डिफॉल्ट हिंदू हूं। हिंदू विरोधी परंपरा कांग्रेस के डीएनए में है। वहीं लोकसभा चुनाव को लेकर गिरिराज सिंह ने कहा है कि, कांग्रेस ने हिंदू विरोधी काम किया है। पूरे देश में कांग्रेस को उम्मीदवार नहीं मिलेंगे। यह देश सनातन हिंदुओं का है, राम और कृष्ण से इसकी पहचान है। जो शिव, राम और कृष्ण का विरोधी हो, उसे जगह कहां मिलेगी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments