Saturday, March 2, 2024
Homeदेशगले में फूलों की माला, जुबां पर गुस्सा... 9 महीने बाद जेल...

गले में फूलों की माला, जुबां पर गुस्सा… 9 महीने बाद जेल से बाहर आए मनीष कश्यप, महिला ने कहा 9 महीने बाद बच्चे का जन्म होता है इस बार…

न्यूज डेस्क। बिहार के यूट्यूबर मनीष कश्यप 9 महीने बाद जेल से शनिवार को रिहा हुए. इस दौरान भारी संख्या में उनके समर्थक जेल के बाहर मौजूद रहे. इसमें युवाओं, बुजुर्गों के साथ ही महिलाएं भी थीं. सभी जेल के बाहर सुबह से टकटकी लगाए बैठे थे. जेल के बाहर ऐसा नजारा था, मानो कोई बड़ा नेता सालों बाद जेल से बाहर आ रहा हो. सभी के चेहरे पर अपने चहेते मनीष के जेल के बाहर आने की खुशी देखी जा सकती थी.

इतना ही नहीं कुछ महिलाएं हाथों में आरती की थाली लिए खड़ी थीं. वो मनीष को राखी बांधने का इंतजार कर रही थीं. एक महिला ने कहा कि मनीष भाई को राखी बांधने और विजय तिलक लगाने के लिए आई हूं. गणेश जी की मूर्ति भी लेकर आई हूं. इनके सामने मनीष को राखी बांधूंगी.

‘9 महीने में एक बच्चे का जन्म होता है, इस बार…

महिला ने कहा कि मनीष 9 महीने बाद जेल से बाहर आ रहे हैं. 9 महीने में एक बच्चे का जन्म होता है. इस बार मनीष जेल में 9 महीने आत्ममंथन करके बाहर निकल रहे हैं. वो हरदम मुद्दों की लड़ाई लड़ते हैं. वो इंसान बदलेगा बिहार, बनेगा बिहार. इसके बाद जैसे ही मनीष जेल से बाहर निकले, लोगों ने मनीष कश्यप जिंदाबाद के नारे लगाए. समर्थकों ने फूल-मालाएं पहनाकर स्वागत किया.

इसी वजह से मैं 9 महीने जेल में रहा’

वहीं, पटना की बेऊर जेल से निकलते ही मनीष ने बिहार सरकार पर निशाना साधा. मनीष ने कहा, मेरे खिलाफ साजिश की गई थी. इसी वजह से मैं 9 महीने जेल में रहा. भगवान कृष्ण ने जेल में जन्म लिया था. बिहार में बहुत सारे कंस हैं, जिन्होंने मेरे खिलाफ साजिश की थी.

‘मैं इनकी आंखों की उम्मीद पूरी करूंगा’

मनीष ने कहा, ये सजा मुझे कोर्ट ने नहीं, नेताओं ने दी. मुझ पर एनएसए लगा दिया गया था, जिसे कोर्ट ने हटाया. ये जो भीड़ मौजूद है, मैं इनकी आंखों की उम्मीद पूरी करूंगा. जो भी मेरे भाग्य में होगा, वो होगा. राजनीति में आने के सवाल पर कहा कि मुझे बिहार को बदलना है. मैं इन लोगों के बीच में पत्रकारिता करूंगा.

मैं बिहार का इतना बड़ा अपराधी हूं…’

मनीष ने कहा, मैं बिहार का इतना बड़ा अपराधी हूं कि मेरे दादा जी के नाम पर घर की कुर्की कर दी गई. यहां कंस की सरकार है, वो मुझ पर फिर से कार्रवाई कर सकती है. यहां मैं जेल से निकला हूं, कोई ट्रैफिक क्लियर नहीं है. अपनी गाड़ी के आगे भारी भीड़ देखकर मनीष ने कहा कि यहां सभी को सुरक्षा मिल जाती है, लेकिन हमारे लिए रोड ही खाली करवा दीजिए. मनीष ने अपने आगे चल रहे लोगों से कहा कि आगे बढ़ने दीजिए, वर्ना ये लोग मुझ पर फिर कोई केस कर देंगे.

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments