Friday, February 23, 2024
Homeदेशना किराया…ना लोन की EMI, बिजली-फोन का बिल भरने में ही निपट...

ना किराया…ना लोन की EMI, बिजली-फोन का बिल भरने में ही निपट रही लोगों की इतनी कमाई

न्यूज डेस्क। अगर आप भी इसी चिंता में दुबले हो रहे हैं कि कमाते तो खूब हैं, लेकिन खर्चे पूरे ही नहीं होते. तब आपको एक नजर अपने खर्चों पर भी डालनी चाहिए. वैसे Money9 के ‘जेब का सर्वे’ में खुलासा हुआ है कि लोगों का पैसा ना तो लोन की ईएमआई और ना ही मकान के किराये प बल्कि बिजली से लेकर फोन के बिल पर ज्यादा खर्च हो रहा है. चलिए पता लगााते हैं कि कहां-कितना खर्च हो रहा है आपकी जेब का पैसा?

 

जेब का सर्वे’ में खुलासा हुआ है कि एक आम आदमी की सैलरी में से सबसे ज्यादा पैसा राशन पर खर्च होता है. खाद्यान्नों की बढ़ती कीमतों ने देश के अंदर एक अजीब सी महंगाई को बनाए रखा है और इसका असर आम आदमी के खर्च पर दिखता है. वह अपनी सैलरी का 19% अकेला राशन पर खर्च कर रहा है.

बिल हैं या आफत?

 

राशन के बाद आम आदमी की कमाई सबसे ज्यादा बिल को भरने पर खर्च हो रही है. इसमें बिजली से लेकर फोन, पानी, केबल और इंटरनेट इत्यादि शामिल हैं. आम आदमी अपनी महीने की इनकम का 12% सिर्फ बिल भरने पर खर्च कर रहा है. इसके बाद उसका सबसे ज्यादा खर्च बच्चों की फीस भरने पर हो जाता है. ये उसकी मंथली इनकम के करीब 10 प्रतिशत के बराबर हैं.

 

तेल निकालता है ‘तेल’

खर्चों का ये आंकड़ा यहीं नहीं रुकता. मनी9 का ‘जेब का सर्वे’ दिखाता है कि आम आदमी महीने के पेट्रोल, कपड़े, दवाई इत्यादि में प्रत्येक के लिए अपनी सैलरी का 8% खर्च कर देता है. यानी पेट्रोल तेल आम आदमी का ‘तेल’ निकाल देता है. वहीं मकान के किराये पर उसकी सैलरी का 3%, लोन के पेमेंट पर 4% और क्रेडिट कार्ड पर 2% हिस्सा खर्च हो रहा है. जबकि अन्य 8% के खर्च के बाद सेविंग के लिए सिर्फ 18% ही उसके पास बचता है.

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments